राजधानी श्मिला में बंदरों के हमले से एक महिला की हुई मौत, आईजीएमसी में तोड़ा दम

हिमाचल प्रदेश के जिला शिमला शहर के कुफ्टाधार क्षेत्र में गुरुवार को बंदरों के हमले में एक महिला की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार महिला घर की छत पर कुछ काम कर रही थी।

इसी दौरान बंदर उस पर झपट पड़े इस दौरान बंदरों के डर से महिला छत से नीचे जा गिरी। महिला को तुरंत आईजीएमसी लाया गया जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

बताया जा रहा है की कुछ साल पहले मिडल बाजार में भी इस तरह का मामला पेश आया था। यहां भी एक महिला की छत से गिरने से मौत हो गई थी।

20 सालों से भी अधिक समय से बेटे और बेटी के साथ शिमला के कुफ्टाधार में रह रही थी यह महिला

स्थानीय पुलिस के मुताबिक हरियाणा के यमुनानगर की रहने वाली राजबाला (56) पिछले 20 सालों से भी अधिक समय से बेटे और बेटी के साथ शिमला के कुफ्टाधार में रह रही थी।

इसी के साथ गुरुवार दोपहर को जब महिला छत पर गई तो यहां अचानक एक बंदर उस पर झपट पड़ा जिस कारण महिला छत से सीधे नीचे जा गिरी। इसमें महिला को गंभीर चोटें आई थीं।

बंदरों के आतंक से आम लोग बेहद परेशान

प्राप्त जानकारी के अनुसार स्थानीय लोग महिला को तुरंत आईजीएमसी अस्पताल ले आए जहां उसकी मौत हो गई। महिला के शव को अस्पताल में रखा गया है।

पुलिस पोस्टमार्टम के बाद महिला के शव को परिजनों को दिया जाएगा। गौरतलब है कि शिमला शहर में बंदरों के आतंक से आम लोग बेहद परेशान हैं।

इस समस्या को लेकर शहर में कई बार प्रदर्शन हो चुके हैं लेकिन लोगों को अभी तक इस समस्या से राहत नहीं मिली पाई है।

हर रोज बंदरों के हमले में घायल होने वाले लोग अस्पताल में उपचार करवाने पहुंच रहे

जिस कारण रिज और मालरोड पर लोग अगर चलते फिरते कुछ खाना चाहते हैं तो नहीं खा सकते। क्युकी उनके खाने पर बंदरो की नजर रहती है। बंदर अचानक झपटते हैं और सामान छीनकर ले जाते हैं।

यही नहीं हर रोज बंदरों के हमले में घायल होने वाले लोग अस्पताल में उपचार करवाने पहुंचते हैं। शिमला ही नहीं हिमाचल के बहुत से क्षेत्रो में लोग इन बंदरो से बेहद परेशान है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *