मंत्रिमंडल ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में 25 फीसदी बस किराया बढ़ाने के फैसले को दी मंजूरी

हिमाचल प्रदेश के मंत्रिमंडल ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में 25 फीसदी बस किराया बढ़ाने के फैसले को मंजूरी दे दी है।

इसी के साथ न्यूनतम बस किराया भी 5 रुपये से बढ़ाकर 7 रुपये कर दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते 10 जुलाई को मंत्रिमंडल की बैठक में किराया बढ़ाने का फैसला लिया गया था।

इसी के साथ कई संगठनों और विपक्ष के विरोध के बाद प्रदेश सरकार बैकफुट पर आ गई थी। बताया जा रहा है की इसी बीच निजी बस ऑपरेटर सरकार पर किराया बढ़ाने का दबाव बनाते रहे।

जानकारी के अनुसार सोमवार को हुई कैबिनेट बैठक में किराया बढ़ाने के फैसले को लागू करने की मंजूरी दे दी गई।

मंगलवार से सभी ऑपरेटर 100 फीसदी सवारियों के साथ बसें चलाना शुरू कर देंगे

प्रदेश में फैले कोरोना काल में आम लोगों के लिए यह बड़ा झटका है। बताया जा रहा है की निजी बस ऑपरेटर संघ के महासचिव रमेश कमल ने बताया कि मंगलवार से सभी ऑपरेटर 100 फीसदी सवारियों के साथ बसें चलाना शुरू कर देंगे।

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश में 3,100 निजी बसें हैं। हिमाचल में कोरोना के चलते सवारियां न मिलने और डीजल महंगा होने के कारण कई ऑपरेटरों ने बसें खड़ी कर दी थीं।

इस फैसले से बस चालकों को बड़ी राहत मिली

बताया जा रहा कि 11 जुलाई के अंक में किराया बढ़ोतरी के फैसले को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जिसके बाद विपक्ष समेत कई संगठनों ने विरोध-प्रदर्शन किए थे। जिस के बाद सरकार के इस फैसले से बस चालकों को बड़ी राहत मिली है।

प्रति किलोमीटर बस किराये की जानकारी

यह होगा प्रस्तावित किराया प्रति किलोमीटर साधारण बसें पहले पहाड़ी क्षेत्र में 1,75 किराया था जो अब 2,18 साथ ही मैदानी क्षेत्र में किराया पहले 1,12 था जो अब 1,40 कर दिया गया है।

इसी के साथ वोल्वो बसों में अब पहाड़ी क्षेत्रो में 4.4 किराया लग रहा है जो पहले 3.62 था। तथा मैदानी इलाकों में पहले किराया प्रति किलोमीटर का पहले 2, 74 था जो अब 3, 43 है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *