हिमाचल के सैनिक की कोरोना की बजह से कोलकाता में हुई मौत, सैनिक की पत्नी और बेटा अंतिम विदाई के लिए कोलकाता रवाना हुए

हिमाचल प्रदेश में कोरोना संकटकाल में ऊना के एक सैनिक के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद जिले की बटूही पंचायत के गांव भलोह के सैनिक की कोलकाता में मौत हो गई है।

बताया जा रहा है की कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से उसकी पार्थिव देह को नहीं लाया जा सका है। इसी के

साथ दिवंगत सैनिक के बुजुर्ग माता-पिता बेटे की पार्थिव देह के अंतिम दर्शन भी नहीं कर पाए।

मृतक सैनिक की पत्नी और बेटा अंतिम विदाई के लिए कोलकाता रवाना हुए हैं। सैनिक का अंतिम संस्कार कोलकाता में ही किया जाएगा।

42 वर्षीय बेटे सोहन सिंह की अगले वर्ष सेवानिवृत्ति थी

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिता पूर्व सैनिक अवतार सिंह और माता शीशो देवी गांव भलोह में अपने बेटे के निधन का दुखद समाचार पाकर बेहाल हैं। बताया जा रहा है की वे अपने बेटे की अंतिम विदाई को भी नहीं देख पाए हैं।

इसी एक साथ पिता अवतार सिंह ने बताया कि उनके 42 वर्षीय बेटे सोहन सिंह की अगले वर्ष सेवानिवृत्ति थी। इसी के दौरान वह आर्मी

पोस्टल सर्विसेस में नाइक पद पर तैनात था तथा ड्यूटी के दौरान ही उसका निधन हो गया। उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

बताया जा रहा है कि अवतार सिंह के मुताबिक बेटे की सेवानिवृत्ति के बाद गांव भलोह में ही बच्चों सहित बसने का फैसला किया था। परन्तु कोरोना की चपेट में आने से सैनिक की मृत्यु हो गयी है।

सैनिक की पोती 12वीं और पोता 10वीं कक्षा में पढ़ता

सैनिक की पुत्रवधू, पोता व पोती झलेड़ा में रहते हैं। इसी के साथ पोती 12वीं और पोता 10वीं कक्षा में पढ़ता है। बताया जा रहा है की उनका छोटा बेटा परिवार सहित कनाडा में रहता है जबकि बड़ा बेटा सेना में ही कार्यरत था।

मां का कहना है कि बेटे की सेवानिवृत्ति पर समारोह की प्लानिंग हो रही थी लेकिन उस से पहले ही कोरोना के बजह से उनकी मौत हो गयी है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *