हिमाचल प्रदेश में आने वाले पर्यटकों को ई-पास सॉफ्टवेयर में बदलाव करने से मिली बड़ी राहत

हिमाचल प्रदेश की यात्रा करने के लिए अब पर्टयकों के आने के इंतजार में बैठे सैलानी गुरुवार से नए नियमों के तहत पंजीकरण करवा सकेंगे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जयराम मंत्रिमंडल के दिशा-निर्देशानुसार IT विभाग ने ई-पास सॉफ्टवेयर में बदलाव कर दिया है।

बताया जा रहा है की गुरुवार से यह सॉफ्टवेयर काम करना शुरू कर देगा। जानकारी के मुताबिक सैलानियों को हिमाचल प्रदेश घूमने आने वाले पर्टयकों के लिए टूरिस्ट कैटेगिरी में पंजीकरण करवाना होगा,

इसी के साथ 24 घंटे में अगर संबंधित जिला उपायुक्त ने आवेदन को मंजूर नहीं किया तो सॉफ्टवेयर खुद स्वीकृति जारी कर देगा।

इसी के साथ 10 साल तक के बच्चों को कोरोना टेस्ट करवाने से भी छूट दी गई

प्राप्त जानकारी के अनुसार कम से कम 02 रात के टूअर पर सैलानी प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में घूम सकेंगे। इसी के साथ 10 साल तक के बच्चों को कोरोना टेस्ट करवाने से भी छूट दी गई है।

हिमाचल प्रदेश में सैलानी अब 96 घंटे पहले का आरटी-पीसीआर के अलावा ट्रूनॉट और सीबी नॉट टेस्ट की निगेटिव टेस्ट रिपोर्ट लेकर आ सकेंगे।

टैक्सी या निजी गाड़ी के चालक भी क्वारंटीन नहीं होंगे

इसी के साथ बताया बुधवार को पर्यटन विभाग ने नये नियमों को जोड़ते हुए एसओपी जारी कर दी है। बताया जा रहा है की अब टैक्सी या निजी गाड़ी के चालक भी क्वारंटीन नहीं होंगे जिस का अहम कारण हिमाचल प्रदेश में टूरिस्ट को बढ़ावा देना है।

05 दिन के लिए होटल बुकिंग करवाने वाले सैलानियों को हिमाचल प्रदेश में एंट्री दी जा रही

हिमाचल प्रदेश में निदेशक देवेश कुमार की ओर से जारी एसओपी में स्पष्ट किया है, प्राप्त जानकारी के अनुसार कम से कम 05 दिन के लिए होटल बुकिंग करवाने

वाले सैलानियों को हिमाचल प्रदेश में एंट्री दी जा रही है। अब सरकार ने 05 दिन की अवधि को घटाकर 02 रात कर दिया है।

प्रदेश में घूमने का समय 96 घण्टे का कर दिया गया

बताया जा रहा है की इसी के साथ अब सैलानी 96 घंटे पहले करवाई गई कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट लेकर हिमाचल प्रदेश के बॉर्डर पर पहुंच सकेंगे।

पहले 72 घंटे की रिपोर्ट पर ही आने दिया जाता था। लेकिन अब प्रदेश में घूमने का समय 96 घण्टे का कर दिया गया है।

प्रदेश में 10 साल से कम आयु के बच्चों को जांच रिपोर्ट लेकर आने की शर्त को भी हटा दिया गया

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश में 10 साल से कम आयु के बच्चों को जांच रिपोर्ट लेकर आने की शर्त को भी हटा दिया गया है। जानकारी के अनुसार इससे अधिक आयु वालों को निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी।

हिमाचल प्रदेश पर्यटन निदेशक ने बताया कि अगर कोई सैलानी होटल आने पर कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है।

24 घंटे के लिए सील कर दिया जाएगा

तो जिस कमरे में वो रह रहा था, उसे 24 घंटे के लिए सील कर दिया जाएगा। जिन क्षेत्रों में ऐसा सैलानी 48 घंटे पहले घूमा हैं।

वहां भी सैनिटाइजेशन करनी होगी। इसी के साथ होटल कारोबारियों को भी बहुत सी बातो को ध्यान में रखना होता है।

Tourist who gets to visit Himachal Pradesh gets big relief, IT department changes e-pass software

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *