शिक्षा-प्रशिक्षण संस्थानों (डाइट) में नियुक्त किये गए शिक्षकों को ऑनलाइन पढ़ाई की समीक्षा का जिम्मा

हिमाचल प्रदेश के शिक्षा-प्रशिक्षण संस्थानों (डाइट) में नियुक्त किये गए शिक्षकों को ऑनलाइन पढ़ाई की समीक्षा का जिम्मा दिया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार डाइट में नियुक्त शिक्षकों को अब रोजाना कम से कम 10 विद्यार्थियों से फोन पर बात कर पढ़ाई करने में आ रही समस्या या सुझावों को लेकर रिपोर्ट बनानी होगी साथ ही उन्हें छात्रों की

समस्याओ की पूरी जानकारी प्राप्त करनी होगी ताकि उस में सुधर किया जा सके। जिन विद्यार्थियों को नोट्स दिए जा रहे हैं। उनसे भी बात कर नोट्स मिलने को लेकर पता करना होगा।

डाइट और एससीईआरटी के प्रिंसिपलों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस कर यह निर्देश जारी किए

इसी के साथ बुधवार को उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने सभी डाइट और एससीईआरटी के प्रिंसिपलों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस कर यह निर्देश जारी किए। जानकारी के अनुसार साथ ही उच्च शिक्षा निदेशक ने बताया कि कोरोना

संकट के बीच में स्कूल बंद चल रहे हैं। सभी बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है। ताकि उनकी शिक्षा में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी ना हो।

शिक्षकों को रोजाना दस-दस बच्चों से फोन पर बात करनी होगी

प्राप्त जानकारी के अनुसार इसी कड़ी में अब डाइट में नियुक्त शिक्षकों को नई जिम्मेवारी सौंपी गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इन शिक्षकों को रोजाना दस-दस बच्चों से फोन पर बात करनी होगी।

साथ ही ऑनलाइन पढ़ाई को लेकर बच्चों से राय जाननी होंगी। उनकी समस्याओं को हल करना होगा। रोजाना किए जाने वाले फोन कॉल की रिपोर्ट भी तैयार करनी होगी।

शिक्षक संपर्क साध कर पता करेंगे कि उन्हें नोट्स मिले या नहीं

इसी के साथ निदेशक ने कहा कि स्मार्ट मोबाइल फोन से वंचित बच्चों को सरकार ने नोट्स देने का फैसला लिया है। ऐसे विद्यार्थियों से भी शिक्षक संपर्क साध कर पता करेंगे कि उन्हें नोट्स मिले या नहीं।

साथ ही शिक्षा निदेशक ने सभी डाइट प्रिंसिपलों को शिक्षकों को सौंपी गई इस जिम्मेवारी की मॉनीटरिंग करने को कहा है। ताकि इस पर विशेष ध्यान दिया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *