भारत ने चीन सीमा पर किलेबंदी शुरू कर दी, समदो बॉर्डर तक 202 किमी लंबी ग्रांफू-समदो मार्ग को डबल लेन किया जाएगा

हिमाचल प्रदेश में सीमावर्ती इलाकों में सड़क नेटवर्क मजबूत करने के लिए भारत ने चीन सीमा पर किलेबंदी शुरू कर दी है। प्राप्त जानकारी के अनुसार भारत सरकार चीन सीमा से बेहद करीब समदो बॉर्डर तक 202 किमी लंबी ग्रांफू-समदो

मार्ग को डबल लेन करेगी। जिस से भारत चीन के काफी नजदीक पहुंच जाएगा। इसके लिए भूमि अधिग्रहण का काम शुरू कर दिया गया है।

इसी के साथ तहसीलदार केलांग अनिल कुमार ने बताया कि भूमि अधिग्रहण को लेकर दो सप्ताह के भीतर इसकी फाइल सरकार और सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) को सौंपी जाएगी। जिस से (बीआरओ) को इस की जानकारी मिल पाएगी। तथा कार्य शुरू किया जाएगा।

समदो बॉर्डर तक पहुंचने के लिए भारतीय सेना को वैकल्पिक मार्ग मिलेगा

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस मार्ग के डबल लेन बनने से समदो बॉर्डर तक पहुंचने के लिए भारतीय सेना को वैकल्पिक मार्ग मिलेगा। साथ ही बताया जा रहा है की पारछू झील के खतरे का भी समाधान निकाल लिया जाएगा।

सेना अभी तक इसे वैकल्पिक मार्ग के तौर पर इस्तेमाल करती थी लेकिन आने वाले दिनों में नियमित तौर पर इस्तेमाल करेगी।

पारछू झील फटने के कारण करीब डेढ़ दशक पहले हिंदुस्तान-तिब्बत मार्ग किन्नौर में क्षतिग्रस्त हुआ था

मनाली में स्तिथ रोहतांग दर्रा पार करने के बाद लाहौल की तरफ लगभग 14 किमी के बाद ग्रांफू-समदो मार्ग मनाली-लेह सड़क से अलग हो जाता है।

साथ ही बताया जा रहा है की पारछू झील फटने के कारण करीब डेढ़ दशक पहले हिंदुस्तान-तिब्बत मार्ग किन्नौर में क्षतिग्रस्त हो गया था। जिस को ठीक किया जा रहा है।

वन राजस्व विभाग और बीआरओ की टीम भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया में जुटी

प्राप्त जानकारी के अनुसार उस दौरान सेना ने समदो बॉर्डर तक पहुंचने को ग्रांफू-समदो मार्ग का इस्तेमाल किया था। इस 202 किमी लंबे ग्रांफू-समदो

मार्ग को डबल लेन करने के लिए वन राजस्व विभाग और बीआरओ की टीम भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया में जुटी है। साथ ही इस कार्य को लेकर विभिन्न कार्य किये जा रहे है।

तथा इस मार्ग के कार्य को लेकर विभिन्न महत्पूर्ण कार्य किये जा रहे है। यह मार्ग करीब 07 मीटर चौड़ा है। डबल लेन के लिए सड़क किनारे अतिरिक्त 13 मीटर चौड़ा जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा।

ग्रांफू-समदो सड़क सुरक्षा के लिहाज से प्राथमिकता की सूची में शामिल किया गया

यह सड़क करीब 14 हजार फीट ऊंचे कुंजम दर्रा को पार कर गुजरती है। जो एक बहुत ही बड़ा और चुनौतीपूर्ण ट्रेक है।

बीआरओ के एक उच्च अधिकारी ने बताया कि ग्रांफू-समदो सड़क सुरक्षा के लिहाज से प्राथमिकता की सूची में शामिल किया गया है।

इस मार्ग को डबल लेन बनाने की केंद्र से हरी झंडी भी मिल गई है। इस प्रोजेक्ट पर करोड़ों रुपये खर्च होंगे, तथा जल्द इस कार्य को पूरा कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *