प्रदेश सरकार ने प्रदेश में हरित वन आवरण 333.52 किलोमीटर तक बढ़ा दिया, वन क्षेत्र बढ़ाने में हिमाचल पांचवें नंबर पर

हिमाचल प्रदेश सरकार ने प्रदेश में हरित वन आवरण 333.52 किलोमीटर तक बढ़ा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जो कि प्रदेश के लिए बेहतर खबर है।

बताया जा रहा है की पिछले दिसंबर को जारी की गई भारतीय वन सर्वे रिपोर्ट-2019 में ये खुलासा हुआ है।

इसी के साथ ऐसे में देश के अग्रणी राज्यों में हिमाचल प्रदेश को पांचवां स्थान प्राप्त हुआ है। प्रदेश के कुल क्षेत्रफल में से 67 प्रतिशत भूमि पर वन स्तिथ है,

जबकि 33 प्रतिशत स्थान बंजर भूमि है। इसी के साथ जमीन पर पौधारोपण के जरिए हरा-भरा करने की कोशिश की जा रही है।

हिमाचल प्रदेश में 2030 तक प्रदेश में 27 प्रतिशत वन क्षेत्र को बढ़ाकर 30 प्रतिशत करने का लक्ष्य भी रखा गया

प्राप्त जानकारी के अनुसार इसके अलावा हिमाचल प्रदेश में 2030 तक प्रदेश में 27 प्रतिशत वन क्षेत्र को बढ़ाकर 30 प्रतिशत करने का लक्ष्य भी रखा गया है। इसी के साथ हिमाचल प्रदेश में बंडारू दत्तात्रेय ने वन विभाग और

राज्य रेडक्रॉस सोसायटी शिमला ने पौधरोपण अभियान के अंतर्गत शिमला के निकट मशोबरा में भेखल्टी सड़क में पौधारोपण कर इस अभियान का शुभारंभ किया।

इसी के साथ बताया जा रहा है की इस अभियान के अंतर्गत 100 से अधिक पौधे रोपे गए। साथ ही राज्यपाल ने देवदार और अखरोट के पौधे भी लगाए।

प्रदेश में पौधारोपण से पर्यावरण संरक्षण और संतुलन बना रहता

हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल ने कहा कि पौधे प्रकृति का एक उपहार और वरदान है और उनका संरक्षण तथा संबर्द्धन बहुत आवश्यक है। इसी के साथ प्रदेश में पौधारोपण से पर्यावरण संरक्षण और संतुलन बना रहता है।

इसी के साथ बताया जा रहा है की उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त की है कि हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में 41 वन मंडलों के 12 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में एक करोड़ 20 लाख पौधे रोपने का लक्ष्य रखा है। जिन को जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा।

The state government increased the green cover in the state to 333.52 km, Himachal at number five in increasing the forest cover

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *