हिमाचल प्रदेश में नई शिक्षा नीति लागू करने की पहल शुरू, गर्म और पौष्टिक भोजन बनाकर मॉर्निंग असेंबली के बाद देने का प्लान बना रही प्रदेश सरकार

हिमाचल प्रदेश में नई शिक्षा नीति लागू करने की हलचल शुरू हो गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकारी स्कूलों में आने वाले छात्र तंदरूस्त रहें तथा सुरक्षित रहे इस लिए साथ ही उनका ध्यान पढ़ाई में भी लगे इसको लेकर गर्म फूड बनाकर मॉर्निंग असेंबली के बाद देने का प्लान प्रदेश सरकार बना रही है।

केंद्र सरकार ने भी इसको लेकर नई शिक्षा नीति में प्रावधान किया है। जिस से छात्रों को बहुत से लाभ मिल पाएंगे। वहीं अब शिक्षा विभाग नई शिक्षा नीति के किन नियमों को लागू कर सकते हैं। इस पर रोडमैप तैयार कर रहे हैं।

छात्रों को सुरक्षित और स्वस्थ रखने के लिए योजना बना रही है सरकार

इसमें सबसे पहले मॉर्निंग असेंबली में छात्रों को गर्म-गर्म नाश्ता या फिर जहां पर सुविधा नहीं होगी। वहां चने ओर गुढ़ या फिर सीजनली फ्रूट दिए जाने को लेकर प्लान तैयार किया गया है। ताकि छात्रों को सुरक्षित और स्वस्थ रखा झा सके। बताया जा रहा है की इसको लेकर समग्र शिक्षा विभाग ने सरकार को प्रोपोजल भी भेज दिया है। इस की पूरी रणनीति भी बना ली गयी है।

ग्रामीण क्षेत्रों में नई शिक्षा नीति के तहत सामूहिक लाइब्रेरी बनाने पर भी मंथन शुरू हो गया

प्राप्त जानकारी के अनुसार अहम यह है कि हिमाचल प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में नई शिक्षा नीति के तहत सामूहिक लाइब्रेरी बनाने पर भी मंथन शुरू हो गया है। बताया जा रहा है की शिक्षा अधिकारी चाहते हैं कि सामूहिक पुस्तकालय अगर हर क्षेत्र में होगा। तो इससे क्षेत्रिय भाषाओं को समझना हिमाचल प्रदेश में छात्रों के लिए बेहद आसान हो जाएगा।

कम्यूनिटी लाइब्रेरी में छात्रों के लिए स्थानीय भाषाओं में सम्मेलन करवाने का भी सरकार बना रही

इसके साथ बताया जा रहा है की कम्यूनिटी लाइब्रेरी में छात्रों के लिए स्थानीय भाषाओं में सम्मेलन करवाने का भी सरकार बना रही है। उससे पहले हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी 21 अगस्त को नई शिक्षा नीति पर विभाग के किए कार्यों व प्लानिंग पर बैठक करेंगे जिस में कई बहुत से महत्वपूर्ण निर्णय लिए जाएंगे।

समग्र शिक्षा निदेशालय में शिक्षा अधिकारियों के साथ नई शिक्षा नीति पर चर्चा की गई है

इसी के साथ बताया जा रहा है की बुधवार को भी समग्र शिक्षा निदेशालय में शिक्षा अधिकारियों के साथ नई शिक्षा नीति पर चर्चा की गई है। जिसमें ये दो मुख्य बिंदू थे। बताया जा रहा है की फिलहाल छात्रों को गर्म-गर्म फूड किस आधार पर देने हैं इस पर निर्णय और प्रिक्रिया को तैयार करना है। इसी के साथ सरकार यह भी तय कर रही है की क्या कक्षा एक से जमा दो तक सभी छात्रों को भी इस योजना का लाभ देना है या नही इस पर विचार किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *