पांवटा साहिब के गिरिपार क्षेत्र के कफोटा में दिन भर भंडारे में था एएसआई और रात को निकला कोरोना पॉजिटिव

हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के पांवटा साहिब के गिरिपार क्षेत्र के कफोटा में उस समय देखते ही देखते हड़कंप मच गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार जब लोगों को इस बात की सुचना मिली की भंडारे में सैकड़ों लोगों के बीच एक कोरोना संक्रमित शामिल था।

बताया जा रहा है की रविवार को देर रात जैसे ही एएसआई की बद्दी में रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो उन्होंने सबसे पहले आश्रम में मौजूद लोगों को इसकी सूचना दी।

इसके बाद उनके आस पास रह रहे जो लोग अपने घरो को चले गए थे उन्हें फिर से बापिस बुला लिया गया और आश्रम को सील कर दिया गया साथ ही कोरोना संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में जो भी आया उन सभी की जांच की जा रही है।

पुलिस कर्मी के प्राइमरी संपर्क में आये 13 लोग

हिमाचल प्रदेश में फिलहाल पुलिस कर्मी के प्राइमरी संपर्क में 13 लोग आए हैं, लेकिन सेकेंडरी संपर्क को मिलाकर करीब 35 से 40 लोगों को आश्रम में रखा गया है। जिनकी जाँच की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक शिलाई क्षेत्र का पुलिस कर्मी आजकल बद्दी में ड्यूटी पर तैनात है। इसी के साथ बताया जा रहा है कि कोविड-19 के सैंपल लेकर शनिवार को

पुलिस कर्मी अपनी पत्नी के साथ पहले पांवटा साहिब और फिर कफोटा पहुंचा। इस पुलिस कर्मी के सम्पर्क में आये सभी ब्यक्तियो की जांच की जा रहे है। ताकि समय रहते इनका इलाज किया जा सके।

प्रदेश में बढ़ते कोरोना के मामलो की बजह से प्रदेशवासियो में इस वायरस का खौफ एक बार फिर से फैलने लगा है।

कोरोना के सम्पर्क में आये हुए व्यक्तियों के एक सप्ताह बाद सैंपल उठाए जाएंगे

प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को सावन के आखिरी दिन कफोटा के आश्रम में भंडारे का आयोजन किया था, जिसमें भारी मात्रा में लोग पहुंचे थे।

यह पुलिस कर्मी भी उस स्थान पे पहुंचा हुआ था और कई लोगों के संपर्क में आया था जिस वजह से संकरण का खतरा बढ़ता जा रहा है रात को जब उसकी कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो क्षेत्र में हड़कंप मच गया।

वहीं देखा जाये तो , बीएमओ राजपुर डा. अजय देओल ने

विधायक हर्षवर्धन चौहान ने जनता को किया सम्बोदित

जानकारी देते हुए कहा कि रविवार को स्वास्थ्य कार्यकर्ता को मौके पर भेजकर मौजूद ज्यादा से ज्यादा लोगों को ऐहतियात बरतने की पूरी जानकारी साथ ही

साथ सहायता प्रदान कराई कोरोना के सम्पर्क में आये हुए व्यक्तियों के एक सप्ताह बाद सैंपल उठाए जाएंगे। वहीं, शिलाई विधानसभा क्षेत्र के विधायक हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि यह एक चिंता की बात है।

कोरोना को लेहके एक पुलिस कर्मी को इतनी लापरवाही नहीं उठानी चाहिए थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *