सोलन के मुख्यालय के पीजी कॉलेज में एक प्राध्यापक ने कॉलेज में पढ़ रहे एक छात्र को मारा थप्पड़

हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन के मुख्यालय के पीजी कॉलेज में एक प्राध्यापक ने कॉलेज में पढ़ रहे एक छात्र को थप्पड़ मार दिया दिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार छात्र के परिजनों ने मामले की प्रधानाचार्या से लिखित शिकायत की है।

रोफेसर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग

बताया जा रहा है की उन्होंने कहा कि प्रोफेसर ने बेवजह विद्यार्थी को थप्पड़ मारा जिससे वह बेहद आहत है। इसी के साथ उन्होंने शिकायत की मांग की है साथ ही प्रोफेसर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए यह मांग छात्र के परिजन क्र रहे है।

प्रोफेसर को बुला कर इस मामले को लेकर जरूरी निर्देश दिए

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस मामले की शिकायत मिलने के बाद प्रधानाचार्य ने आपातकालीन बैठक बुलाई और सभी प्रोफेसर को बुला कर इस मामले को लेकर जरूरी निर्देश दिए। बताया जा रहा है की प्रधानाचार्या ने इस घटना को लेकर दोषी प्रोफेसर से भी पूछताछ की है।

पीजी कॉलेज के विद्यार्थी ने कहा कि उसे बेवजह कॉलेज प्रोफेसर ने चांटा मार दिया

पीजी कॉलेज के विद्यार्थी ने कहा कि उसे बेवजह कॉलेज प्रोफेसर ने चांटा मार दिया था। इससे वह मानसिक रूप से परेशान है। छात्र के पिता ने बताया कि घटना से उनका बीपी बढ़ गया और चिकित्सक से दवा भी लेनी पड़ी।

प्राध्यापकों की आपात बैठक बुलाई गई

छात्र के पिता ने आरोप लगाया कि प्रोफेसर पहले भी कई विद्यार्थियों से ऐसा बर्ताव कर चुके हैं, मगर अन्य किसी ने उनके खिलाफ शिकायत नहीं की। बताया जा रहा है की

कॉलेज प्रधानाचार्या नम्रता टिक्कू ने बताया कि उन्हें जैसे ही इस घटना की शिकायत मिली उन्होंने उसके तुरंत बाद ही कार्रवाई अमल में लाई तथा कॉलेज में सभी प्राध्यापकों की आपात बैठक बुलाई गई।

प्राध्यापक को नोटिस जारी कर लिखित में इस मामले को लेकर जवाब मांगा गया

जिस में इस पुरे मामले में चर्चा की गयी। इस बैठक में प्राध्यापक को भी बुलाया गया जिन्होंने अपनी गलती को मान लिया। इसी के साथ प्रधानाचार्या ने जानकारी देते हुए

उन्होंने कहा कि प्राध्यापक को नोटिस जारी कर लिखित में इस मामले को लेकर जवाब मांगा गया है तथा जल्द इस का उत्तर देने के लिए भी कहा गया है।

A professor at PG College, Solan’s headquarters slaps a student studying in the college

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *