हिमाचल के 1,000 से अधिक पैराग्लाइडिंग पायलट को किया जाएगा प्रशिक्षित, प्रदेश सरकार ने लिया निर्णय

हिमाचल प्रदेश के पैराग्लाइडिंग पायलट और उनके साथ टेंडम उड़ान भरने वाले लोगों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार इन पायलटों को विशेष प्रशिक्षण देगी जिस से यह अपनी प्रिक्रिया बिलासपुर में क्रमवार तरीके से दिए जाने वाले इस प्रशिक्षण पर दो करोड़ रुपये की राशि व्यय की जाएगी।

सभी पायलटों को क्रमवार तरीके से सुरक्षित उड़ानों को लेकर प्रशिक्षित किया जाएगा

प्राप्त जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश के मनाली, कांगड़ा, चंबा और बिलासपुर क्षत्रों में वर्तमान में 1000 से अधिक पैराग्लाइडिंग पायलट पर्यटन विभाग के पास पंजीकृत हैं। इसी

के साथ इन सभी पायलटों को क्रमवार तरीके से सुरक्षित उड़ानों को लेकर प्रशिक्षित किया जाएगा साथ ही हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में कैबिनेट मंत्री गोविंद ठाकुर की अध्यक्षता में बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

खेल का संचालन करने वाले व्यक्ति की आयु में छूट देते हुए इसे 21 वर्ष से 18 वर्ष किया गया

प्राप्त जानकारी के अनुसार इसके अतिरिक्त पायलटों की सालाना फीस में भी कमी की गई है इसी के साथ बताया जा रहा है की और खेल का संचालन करने वाले व्यक्ति की आयु में छूट देते हुए इसे 21 वर्ष से 18 वर्ष किया गया है।

इसी के साथ बताया जा है की टेंडम उड़ान के लिए 25 किलो वजन का व्यक्ति भी पात्र होगा और 12 वर्ष से कम आयु के बच्चे टेंडम उड़ान नहीं भर सकेंगे।

एचपी एयरो स्पोर्ट्स के एक्जीक्यूटिव मेंबर सतीश अवरोल ने गोविंद ठाकुर का आभार व्यक्त किया

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश में अंतरराष्ट्रीय स्तर के कानूनों को लागू किया जाएगा और एचपी एयरो स्पोर्ट्स एसोसिएशन का पुनर्गठन कर पूरे हिमाचल प्रदेश से नए सदस्यों को इसमें शामिल किया जाएगा।

इस बैठक में उपस्थित रहे एचपी एयरो स्पोर्ट्स के एक्जीक्यूटिव मेंबर सतीश अवरोल ने गोविंद ठाकुर का आभार व्यक्त किया जल्द ही हिमाचल प्रदेश में यह प्रिक्रिया शुरू की जायेगी।

More than 1,000 paragliding pilots of Himachal will be trained, the state government decided

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *