हिमाचल में वन विभाग ने चीड़ पत्ती उद्योग को स्थापित करने के लिए एक योजना तैयार की

हिमाचल प्रदेश में जंगलों को आग से बचाने के लिए अब वन विभाग ने चीड़ पत्ती उद्योग को स्थापित करने के लिए एक योजना तैयार की है। प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को विभाग ने चीड़ पत्ती से जुड़े उद्योगों को प्रस्तुति के लिए बुलाया है।

उद्योग विभाग के अधिकारी भी इस प्रस्तुति के दौरान मौजूद रहेंगे

इसी के साथ बताया जा रहा है की वन मंत्री राकेश पठानिया के सामने प्रस्तावित इस प्रस्तुति के दौरान वह उद्योग के स्थापन से लेकर उससे हिमाचल प्रदेश में होने वाले फायदों के बारे में बताएंगे। उद्योग विभाग के अधिकारी भी इस प्रस्तुति के दौरान मौजूद रहेंगे।

ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के दौरान रुचि दिखाई

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ ऐसे निवेशक हैं जिन्होंने ग्लोबल इन्वेस्टर्स मीट के दौरान रुचि दिखाई थी। इसी के साथ बताया जा रहा है की सरकारी सिस्टम की सुस्त चाल की वजह से ग्राउंड पर मामला ठंडा पड़ा था।

जयराम सरकार ने ही चीड़ पत्ती उद्योगों को प्रमोट करने और आर्थिक सहयोग देने की योजना को मंजूरी दी

इसी पर पठानिया ने पदभार संभालने के बाद ही साफ कर दिया था कि वह हिमाचल प्रदेश हित के फैसले लेने में देरी नहीं करेंगे। हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार ने ही चीड़ पत्ती

उद्योगों को प्रमोट करने और आर्थिक सहयोग देने की योजना को मंजूरी दी थी। ताकि प्रदेश में स्तिथ वनो को सुरक्षित रखा जा सके, तथा प्रदेश के वनो को आग से बचाया जा सके।

Forest Department in Himachal prepared a plan to establish pine leaf industry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *