विधानसभा में बुधवार को फिल्म अभिनेत्री कंगना रणौत की सुरक्षा के मुद्दे को लेकर उठा सवाल

हिमाचल प्रदेश की विधानसभा में बुधवार को फिल्म अभिनेत्री कंगना रणौत की सुरक्षा के मुद्दे को लेकर जबरदस्त नोकझोक हुई। प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की दो

बजे भोजनावकाश के बाद सदन की कार्यवाही शुरू होते ही निर्दलीय विधायक होशियार सिंह ने कंगना की सुरक्षा और उनके मुंबई स्थित कार्यालय को बीएमसी की ओर से तोड़े जाने का मामला उठाया है।

प्रदेश की बेटी कंगना रणौत ने देश-विदेश में नाम कमाया है

बताया जा रहा है की होशियार सिंह ने कहा कि हिमाचल प्रदेश की बेटी कंगना रणौत ने देश-विदेश में नाम कमाया है। अपना ही नहीं बल्कि हिमाचल प्रदेश का भी नाम उन्होंने रोशन किया है।

मुंबई हाईकोर्ट ने बीएमसी की कार्रवाई पर स्टे भी लगाया

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की उन्हें जान से मारने की धमकी मिल रही है। इसी के साथ महाराष्ट्र सरकार की कार्रवाई अशोभनीय है।

बताया जा रहा है की कंगना को दिए नोटिस के जवाब आने से पहले ही उनके कार्यालय को तोड़ दिया गया और मुंबई

हाईकोर्ट ने बीएमसी की कार्रवाई पर स्टे भी लगाया है। इसी के साथ उससे पहले ही कार्रवाई हो गई। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र विधानसभा ने भी कंगना के खिलाफ प्रीवलेज लाया गया है।

परिस्थितियों को देखते हुए कंगना रणौत को घर में सुरक्षा भी दी गई

इसके बाद हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि कंगना रणौत हिमाचल प्रदेश की बेटी है और उनकी सुरक्षा का ध्यान रखा गया है।

पिछले दिनों कंगना रणौत की बहन ने संपर्क किया और पिता ने लिखित में सुरक्षा की मांग की थी और परिस्थितियों को देखते हुए उन्हें घर में सुरक्षा भी दी गई थी।

प्लस श्रेणी की सुरक्षा देते हुए CRPF के 11 कमांडो उनकी सुरक्षा में तैनात किये थे

बताया जा रहा है की उन्हें पीएसओ भी दिया गया है। इसी के साथ केंद्र सरकार ने उन्हें वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा देते हुए CRPF के 11 कमांडो उनकी सुरक्षा में तैनात किये हैं।

बताया जा रहा है कि हिमाचल सरकार उनके खिलाफ हो रहे व्यवहार से चिंतित है। तथा उन की सुरक्षा को लेकर वो केंद्र में भी बात करेगी।

Question on the issue of security of film actress Kangana Ranaut raised in the Assembly on Wednesday

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *