नई पंचायतों की वार्ड बंदी और वोटर लिस्ट बनाने के लिए 75 दिन का समय दिया जाएगा

हिमाचल प्रदेश की नई पंचायतों की वार्ड बंदी और वोटर लिस्ट बनाने को 75 दिन का समय दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की नई पंचायतों की अंतिम अधिसूचना जारी होने की तारीख से यह अवधि गिनी जाएगी।

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश में पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव के लिए 56.49 लाख वोटर वोट देंगे साथ ही वोटरों लिस्टों के फाइनल होने के बाद वोटरों की सही संख्या सामने आएगी।

चुनाव आयोग के चुनाव अधिकारी संजीव महाजन ने दी जानकारी

प्राप्त जानकारी के अनुसार हिमाचल में चुनाव आयोग के चुनाव अधिकारी संजीव महाजन कहते हैं कि हिमाचल प्रदेश में स्थानीय निकासों में वोट देने वाले वोटर इस बार भी पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव में वोट नहीं दे पाएंगे।

पिछले पंचायतीराज चुनाव में कुल 52,88,700 वोटरों ने मताधिकार का प्रयोग किया

साथ ही बताया जा रहा है की अगर कोई पंचायत चुनाव में वोट देना चाहता है तो उसका नाम सिर्फ पंचायतों की वोटर लिस्ट में ही रहेगा। इसी के साथ बताया जा रहा है कि पिछले

पंचायतीराज चुनाव में कुल 52,88,700 वोटरों ने मताधिकार का प्रयोग किया था। इसी के साथ बार कुल 3,61000 नए वोटर सूचियों में जुड़े हैं।

इस बार कुल 56,49,700 वोटरों के नाम वोटर लिस्ट में शामिल हैं। साथ ही महाजन के अनुसार नई पंचायतों की वोटर लिस्ट तैयार करने के लिए 45 दिन का समय जरूरी बताया है।

7 दिन का समय इन आपत्तियों के निपटारे को मिलेंगे

इसी के साथ प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की 10 दिन का समय वोटर के संबंध में आपत्ति दर्ज कराने को देंगे। 7 दिन का समय इन आपत्तियों के निपटारे को मिलेंगे।

07 दिन के भीतर वोटर लिस्टों का प्रारूप तैयार किया जाएगा। जिसके बाद 07 दिन में वोटर लिस्टों को फाइनल करके आयोग के पास भेजना होगा।

संबंधित जिलों को 15 दिन के भीतर लिस्ट भेज दी जायेगी

जिसके बाद आयोग इन वोटर लिस्टों के सेट तैयार कर संबंधित जिलों को 15 दिन के भीतर भेज देगा। जिस के बाद हिमाचल प्रदेश के विभिन्न जिलों में इस की सुचना दे दी जायेगी।

75 days will be given to make the ward captive and voter list of new panchayats

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *