लाहुल-स्पीति के काजा में प्रस्तावित 1000 मेगावाट के सोलर ऊर्जा पार्क के निर्माण को लगभग छह हजार करोड़ रुपए की जरूरत

हिमाचल प्रदेश के शीत मरूस्थल लाहुल-स्पीति के काजा में प्रस्तावित एक हजार मेगावाट के सोलर ऊर्जा पार्क के निर्माण को लगभग छह हजार करोड़ रुपए की जरूरत बताई जा रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की इतना पैसा हिमाचल प्रदेश सरकार के पास नहीं है। लिहाजा वर्ल्ड बैंक के साथ चर्चा इस मामले को लेकर चल रही है।

पावर ट्रांसमिशन की दिक्कत को दूर करने के लिए पावर ग्रिड से बातचीत चल रही

इसी के साथ बताया जा रहा है की पावर ट्रांसमिशन की दिक्कत को दूर करने के लिए पावर ग्रिड से बातचीत चल रही है। लेकिन अभी तक कोई रास्ता नहीं निकल पाया है। यदि पावर ग्रिड ट्रांसमिशन लाइन के निर्माण के लिए हामी भरता है और सुलभ रास्ता निकलता है, तो वर्ल्ड बैंक भी हिमाचल प्रदेश की मदद इसमें कर सकता है।

प्रदेश में एक हजार मेगावाट क्षमता के सोलर पार्क के निर्माण का रास्ता साफ हो जाएगा

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की कोविड के कारण बातचीत में देरी हुई है, मगर बताया जा रहा है कि यह मामला आखिरी दौर में है, इस पर यह औपचारिकताएं पूरी होने के साथ हिमाचल प्रदेश में एक हजार मेगावाट क्षमता के सोलर पार्क के निर्माण का रास्ता साफ

हो जाएगा। इसी के साथ बताया जा रहा है की केंद्र सरकार चाहती है कि सोलर एनर्जी का ज्यादा से ज्यादा दोहन किया जाए जिसके लिए केंद्र सरकार ने नीति भी बनाई है और इस पर

ज्यादा ध्यान भी दिया जा रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की हिमाचल प्रदेश में हालांकि सोलर एनर्जी की ज्यादा संभावनाएं नजर नहीं आ रही हैं मगर फिर भी यहां पर कुछ नई योजनाओं को शुरू करने की सोची गई है।

हिमाचल में सरकारी क्षेत्र में भवनों पर कैप्टिव सोलर प्लांट स्थापित किए जा रहे

हिमाचल प्रदेश में सरकारी क्षेत्र में भवनों पर कैप्टिव सोलर प्लांट स्थापित किए जा रहे हैं वहीं एक 05 मैगावाट का प्रोजेक्ट यहां पर लगाया गया है, इसी के साथ बताया जा रहा है की सोलर एनर्जी पार्क को लेकर काजा में बड़ी संभावना देखी जा रही है मगर यह मामला 03 साल से अटका हुआ है।

बिजली की इवेक्यूएशन के मामले पर बातचीत हुई

इसी के साथ पावर ग्रिड के साथ भी यहां से बिजली की इवेक्यूएशन के मामले पर बातचीत हुई है जिसमें दोबारा से सर्वेक्षण भी इस एजेंसी द्वारा करवाया गया है अटल टनल बनने से इस परियोजना से बेहद लाभ मिल पायेगा।

Construction of proposed 1000 MW Solar Power Park in Kaja of Lahul-Spiti requires about six thousand crores

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *