24 दिन बाद वन विभाग ने बिलासपुर ने कैंचीमोड़ से लेकर गरामोड़ तक कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन के निर्माण कार्य पर लगाई रोक

हिमाचल प्रदेश में पर्यावरण मंत्रालय के दूसरे नोटिस जारी करने के 24 दिन बाद वन विभाग ने बिलासपुर ने कैंचीमोड़ से लेकर गरामोड़ तक कीरतपुर-नेरचौक फोरलेन के निर्माण कार्य को बंद करवा दिया है। यह निर्णय पर्यावरण की देख रेख में लिया गया है।मंत्रालय के आगामी आदेश तक इस कार्य को बंद रखने के आदेश

पर्यावरण मंत्रालय के नोटिस पर काम बंद करने के आदेश जारी

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहे की विभाग पिछले एक माह से नेशनल हाईवे अथॉरिटी आफ इंडिया (एनएचएआई) को पर्यावरण मंत्रालय के नोटिस पर काम बंद करने के आदेश जारी कर रहा था। इसी के साथ बताया जा रहा है की लेकिन NHAI ने काम बंद नही किया था।

पर्यावरण मंत्रालय के आगामी आदेशों तक कार्य शुरू नहीं होगा

इसी के साथ बताया जा रहा है की वहीं वन विभाग बिलासपुर के मुख्य अरण्यपाल ने टीम मौके पर भेजकर काम बंद करवाया। इसी के साथ बताया जा रहा है की विभाग ने साफ किया है कि पर्यावरण मंत्रालय के आगामी आदेशों तक कार्य शुरू नहीं होगा।

हिमाचल प्रदेश सरकार को कीरतपुर-नेेरचौक फोरलेन निर्माण को तत्काल बंद करने के आदेश जारी

हिमाचल प्रदेश में पर्यावरण वन एवं जलवायु मंत्रालय देहरादून ने 25 जून को हिमाचल प्रदेश सरकार को कीरतपुर-नेेरचौक फोरलेन निर्माण को तत्काल बंद करने के आदेश जारी किए थे। इसी के साथ मंत्रालय ने उक्त फोरलेन के बदले गए हिमाचल के रोड अलाइनमेंट प्लान

प्रदेश में सरकार को 03 बार पत्र लिखा

भूमि अधिग्रहण प्लान में बदलाव पर सरकार की ओर से कोई जवाब न मिलने पर उक्त कार्रवाई की थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की मंत्रालय की ओर से साफ किया गया था कि हिमाचल प्रदेश में सरकार को 03 बार पत्र लिखा, लेकिन जवाब नहीं मिला।

मंत्रालय की ओर से उक्त आदेश जारी

इसी के साथ बताया जा रहा है की इसके बाद मंत्रालय की ओर से उक्त आदेश जारी किए गए थे। साथ ही 13 अगस्त को मंत्रालय ने सरकार को दोबारा काम बंद करवाने का रिमाइंडर भेजा।

उसके बाद DFO बिलासपुर ने एनएचएआई को काम बंद करने का नोटिस तो जारी किया था, लेकिन उसके बावजूद काम बंद नहीं हुआ।

पर्यावरण मंत्रालय के आदेशानुसार हिमाचल प्रदेश का यह फोरलेन का काम रोक दिया गया

इसी दौरान पर्यावरण मंत्रालय के आदेशानुसार हिमाचल प्रदेश का यह फोरलेन का काम रोक दिया गया है। बताया जा रहा है की उन्होंने कहा कि हाल ही में बिलासपुर में ज्वाइन किया है। जैसे ही मुझे जानकारी मिली कि विभाग के आदेश के बाद भी एनएचएआई ने काम जारी रखा है।

मंत्रालय के आगामी आदेश तक इस कार्य को बंद रखने के आदेश

मौके पर टीम भेजकर तुरंत प्रभाव से काम बंद करवा दिया गया है। इसी के साथ बताया जा रहा है की वहीं मंत्रालय के आगामी आदेश तक इस कार्य को बंद रखने के आदेश जारी किये है। ताकि वन अधिनियम का उल्लंघन न हो।

After 24 days, the Forest Department banned the construction work of Kiratpur-Nerchauk Fourlane from Bilaspur to Scissorum to Garamod

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *