सामरिक महत्व की 9.02 किलोमीटर अटल टनल रोहतांग को सुरक्षा की दृष्टि की बजह से किया जाएगा पूरी तरह से सील

हिमाचल प्रदेश में बनी अटल टनल 03 अक्तूबर को देश को समर्पित होने जा रही है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की सामरिक महत्व की 9.02 किलोमीटर अटल टनल रोहतांग को सुरक्षा की दृष्टि से पूरी तरह से सील कर दिया गया है। इसी के साथ बताया जा रहा है की अटल टनल के भीतर अब किसी तरह की आवाजाही नहीं होगी है।

सीमा सड़क संगठन (BRO) ने साउथ पोर्टल के साथ नॉर्थ पोर्टल तक सुरक्षा भी कड़ी कर दी

इसी के साथ सीमा सड़क संगठन (BRO) ने साउथ पोर्टल के साथ नॉर्थ पोर्टल तक सुरक्षा भी कड़ी कर दी है। बताया जा रहा है की अटल टनल के भीतर अब न बीआरओ के वाहन आ-जा सकेंगे और न ही बाहरी वाहनों को एंट्री दी जाएगी। साथ ही रविवार को करीब एक दर्जन वाहनों में टनल देखने पहुंचे लोगों को भी मनाली लौटा दिया गया है।

एसपीजी के करीब 02 दर्जन जवान मनाली पहुंच गए

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की रविवार देर शाम एसपीजी के करीब 02 दर्जन जवान मनाली पहुंच गए हैं। इसी के साथ सोमवार से रैली स्थल के साथ टनल व हेलिपैडों का निरीक्षण करेंगे। साथ ही एसपीजी की अलग-अलग टीमें 29 सितंबर तक हिमाचल प्रदेश पहुंचेंगी।

सपीजी के करीब 100 अधिकारी और कमांडो प्रधान मंत्री की सुरक्षा में मौजूद रहेंगे

हिमाचल प्रदेश के पीएम दौरे के लिए एसपीजी के करीब 100 अधिकारी और कमांडो प्रधान मंत्री की सुरक्षा में मौजूद रहेंगे इसी के साथ बताया जा रहा है की टनल के मुख्य अभियंता ब्रिगेडियर केपी पुरुषोत्तमन ने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से टनल को सील किया गया जा रहा है।

03 तारिक को इस टनल का उध्गाटन किया जाएगा

इस लिए यहां आवाजाही कुछ समय के लिए बंद की जा रही है। इसी के साथ उन्होंने कहा कि एक-दो दिन में एसपीजी की टीम फिर से टनल की सुरक्षा का जायजा लेगी तथा 03 तारिक को इस टनल का उध्गाटन किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी जीके द्वारा।

9.02 km of strategic importance will be fully sealed to Atal Tunnel Rohtang from the point of view of security

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *