आंध्र जलविद्युत परियोजना राजधानी शिमला के रोहड़ू में स्तिथ यह परियोजना

shimla (3)

आंध्र जलविद्युत परियोजना हिमाचल प्रदेश के जिला शिमला में स्तिथ एक अहम परियोजना है, प्राप्त जानकारी के अनुसार इस आंध्र जलविद्युत परियोजना को वर्ष 1987-88 के दौरान शुरू किया गया था।

इसी के साथ इस परियोजना में 5.5 मेगावाट की 3 इकाइयाँ स्तिथ हैं। जो इसे स्थापित क्षमता का 16.5 मेगावाट बनाती है। साथ ही ही हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला जिले की रोहड़ू तहसील में स्थित है।

निर्माण कार्य में लगने वाली रुपये की लागत

आंध्र जलविद्युत परियोजना रामपुर के पास नोगली पावर हाउस के माध्यम से राज्य ग्रिड को स्थानांतरित करने के लिए परियोजना की लागत लगभग 9.74 करोड़ रुपये थी, इस के निर्माण कार्य में लगभग 9.74 करोड़ रुपये की लागत लगी थी।

स्थापित क्षमता 16.95 मेगावॉट

इसी के साथ इस जलविद्युत परियोजना का नाम आंध्र जलविद्युत परियोजना है। इस को वर्ष 1987 से 1988 के बीच इस पियोजना के पावर प्लांट को चालू किया गया था।

इसी के साथ इस पनबिजली संयंत्र की स्वीकृत और स्थापित क्षमता 16.95 मेगावॉट है जानकारी के अनुसार इस परियोजना का प्रकार छोटा है, क्योंकि पीढ़ी की क्षमता 25 मेगावाट से कम है।

पावर प्लांट का पनबिजली क्षेत्र उत्तर हाइड्रोइलेक्ट्रिक क्षेत्र

साथ ही इस पावर स्टेशन की स्थिति चल रही है, इस बिजली उत्पादन के लिए पानी का स्रोत आंध्र खादिवर है। रोहड़ू में स्तिथ इस पावर प्लांट का पनबिजली क्षेत्र उत्तर हाइड्रोइलेक्ट्रिक क्षेत्र है साथ ही इस पावर प्लांट का

उद्देश्य हाइड्रोइलेक्ट्रिक पावर स्टेशन से बिजली का उत्पादन करना है, साथ ही इस पनबिजली संयंत्र का स्वामित्व और संचालन हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड द्वारा किया जाता है।

बिजली उत्पादन 3 से 25 मेगावाट के बीच

इसी के साथ इस पनबिजली संयंत्र के लाभार्थी राज्य भारत के उत्तरी भाग के राज्य हैं साथ ही इस परियोजना का प्रकार छोटा है, क्योंकि बिजली उत्पादन 3 से 25 मेगावाट के बीच है।

बिजली परियोजना 1987 में पूरी हुई थी और बिजली संयंत्र का वाणिज्यिक संचालन 1987 में ही शुरू किया गया था, साथ ही टरबाइन का उपयोग किया जाने वाला प्रकार पेल्टन है।

ऑपरेशन में 03 इकाइयाँ स्तिथ

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ इस पावर प्लांट का टर्बाइन और जेनरेटर भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड, भारत द्वारा निर्मित है जानकारी के अनुसार इस पावर

प्लांट की इकाई का आकार 16.95 मेगावाट है साथ ही ऑपरेशन में 03 इकाइयाँ हैं और उनकी क्षमता 5.65 मेगावॉट है। सभी इकाइयों को वर्ष 1987 – 1988 के बीच कमीशन दिया गया है।

हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में रोहड़ू तहसील के चिरगाँव में स्थित

यदि आप यहां आना चाहते है तो आप को इस पावर प्लांट जो हिमाचल प्रदेश के शिमला जिले में रोहड़ू तहसील के चिरगाँव में स्थित है यहां तक पहुंचने के लिए आप यहां बस, कार या ट्रेन के माध्यम से आसानी से पहुंच सकते हो। इसी के साथ आप यहां आ कर इस का निरीक्षण कर सकते है। तथा इस अद्भुत परियोजना को देख सकते है।

आंध्र जलविद्युत परियोजना

इस परियोजना के आसपास के शहरों से पावर स्टेशन के लिए नियमित रूप से परिवहन बसें उपलब्ध हैं जिन का इस्तेमाल कर के आप यहां आसानी से पहुंच सकते हो। राजधानी शिमला रेलवे स्टेशन निकटतम रेलवे स्टेशन है को एक बहुत ही अद्भुत रोमांचित सफर है।

इसी के साथ शिमला रेलवे स्टेशन आंध्र हाइड्रो प्रोजेक्ट से लगभग 125 किमी की दुरी पर स्तिथ है। इसी के साथ आप यहां हवाई मार्ग द्वारा भी यहां पहुंच सकते हो। शिमला हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *