गिरी जलविधुत परियोजना हिमाचल प्रदेश के जिला सिरमौर में स्तिथ एक लोकप्रिय परियोजना

shimla (3)

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ प्रमुख विधुत परियोजनाओं में से एक है, गिरी पावर प्लांट जो हिमाचल प्रदेश के जिला सिरमौर की गिरि नदी पर स्थित है, इसी के साथ यह गिरि हाइड्रोइलेक्ट्रिक परियोजना की कुल स्थापित क्षमता 60 मेगावॉट है।

यह परियोजना में 2 यूनिट तथा 30 मेगावॉट की है

प्राप्त जानकारी के इस परियोजना में 2 यूनिट तथा 30 मेगावॉट की है, इसी के साथ यह परियोजना हिमाचल प्रदेश राज्य बिजली बोर्ड द्वारा संचालित नदी के किनारे की एक योजना है, हिमाचल में स्तिथ यह परियोजना 29 वर्षों से चालू है।

गिरि पनबिजली परियोजना को अप्रैल 1978 में चालू किया गया

सिरमौर में स्तिथ यह गिरि पनबिजली परियोजना को अप्रैल 1978 में चालू किया गया तथ इसकी स्वीकृत और स्थापित क्षमता 60 मेगावॉट है,

इस परियोजना का प्रकार मेजर है, क्योंकि यह 25 मेगावाट से अधिक है साथ ही इस पावर प्लांट की स्थिति पूरी हो गई है और अभी यह आपरेशनल हैं।

इस परियोजना के लिए बिजली उत्पादन के लिए पानी का स्रोत गिरि नदी है जो पावर प्लांट का बेसिन देश की सीमा तक सिंधु नदी है। इस जलविद्युत क्षेत्र उत्तर जलविद्युत क्षेत्र है साथ ही यह गिरी पावर प्लांट HPSEB द्वारा संचालित है, तथा यही विभाग इस परियोजना में कार्य कर रहे है।

1978 में इस गिरी पावर प्रोजेक्ट्स का पूरा होना और जल्द ही पावर प्लांट का कमर्शियल ऑपरेशन शुरू

साथ ही इस पनबिजली संयंत्र के लाभार्थी राज्य हिमाचल प्रदेश और अन्य उत्तर भारतीय राज्य शामिल हैं जो इस परियोजना का लाभ ले रहे है, साथ ही 1978 में इस गिरी पावर प्रोजेक्ट्स का पूरा होना और जल्द ही पावर प्लांट का कमर्शियल ऑपरेशन शुरू होना साथ ही टर्बाइन जिस प्रकार का उपयोग किया जाता है वह फ्रांसिस है।

इस पावर प्लांट की इकाई का आकार 60 मेगावाट (2 यूनिट x 30 मेगावाट)

इसी के साथ इस पॉवर प्लांट का टरबाइन और जनरेटर निर्माता भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड है जिन के द्वारा इस परियोजना को अहम योगदान दिया गया है। साथ ही इस पावर प्लांट की इकाई का आकार 60 मेगावाट (2 यूनिट x 30 मेगावाट) है साथ ही ऑपरेशन में 02 इकाइयाँ होती हैं, जो सभी 02 इकाइयाँ कमीशन होती हैं।

सिरमौर से यह पावर स्टेशन लगभग 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित

यदि आप भी इस गिरी जलविद्युत परियोजना सिरमौर आना चाहते है तो यह स्थान पूरी तरह से सड़क मार्ग से जुड़ा हुआ है, साथ ही हिमाचल प्रदेश में महरार शहर की गिरी नदी में स्थित है साथ ही आप इस हाइडल पावर स्टेशन को सड़क, रेल या वायु मार्ग से पहुंचा सकते हैं,

इस बिजली स्टेशन के लिए निकटतम जुड़ा शहर / गांव सिरमौर है जो हिमाचल प्रदेश का एक जिला है साथ ही सिरमौर से यह पावर स्टेशन लगभग 16 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

कैसे पहुंचे आप इस गिरी पावर प्रोजेक्ट में

साथ ही सिरमौर शहर से पावर स्टेशन तक नियमित बसें और टैक्सी सेवाएं उपलब्ध हैं जंहा से आप आसानी से यहां पहुंच सकते हो, इसी के साथ यह जगाधरी रेलवे स्टेशन निकटतम प्रमुख रेलवे स्टेशन है।

जो पावर स्टेशन से लगभग 52.5 किमी दूर स्थित है, साथ ही जॉली ग्रांट हवाई अड्डा निकटतम अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हवाई अड्डा है जंहा से आप आसानी से

यहां हवाई मार्ग द्वारा पहुंच सकते हो। यह परियोजना राज्य सरकार द्वारा 1966 में पूरी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *