देवभूमि कुल्लू में स्तिथ मलाणा जलविधुत परियोजना

jalvidhut priyojna

हिमाचल प्रदेश में देवभूमि कुल्लू में स्तिथ मलाणा गांव एक बहुत ही लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थान है, जो देश विदेश में अपनी लोकप्रियता के लिए जाना जाता है यही एक जल विद्युत परियोजना है

जो मलाणा जल विधुत परियोजना के नाम से जानी जाती है, इसी के साथ यह परियोजना- 86 मैगावाट मलाणा परियोजना का कार्य मैसर्ज राजस्थान स्पिनिंग एण्ड वीविंग मिल्स ने पूरा कर लिया है।

परियोजना पर कार्य स्पिनिंग एण्ड वीविंग मिल्स ने पूरा कर लिया

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस परियोजना पर कार्य स्पिनिंग एण्ड वीविंग मिल्स ने पूरा कर लिया है साथ ही इस परियोजना पर कार्य 29.9.1998 को आरम्भ किया

गया था साथ ही कुल लागत 332.71 करोड़ रूपये आई है साथ ही कुल्लू जिले की मलाणा जल विद्युत परियोजना का कार्य निर्धारित समयावधि 03 वर्ष से भी कम रिकार्ड समय में पूरा किया।

परियोजना के उत्पादित विद्युत का संचार राष्ट्रीय ग्रिड को 5 जुलाई 2001 से आरम्भ कर दिया गया

इसी के साथ कुल्लू में स्तिथ इस गांव मलाणा में यह परियोजना के उत्पादित विद्युत का संचार राष्ट्रीय ग्रिड को 5 जुलाई 2001 से आरम्भ कर दिया गया है।

इसी के साथ इससे प्रतिदिन 5 लाख रूपये की आय प्राप्त होनी आरम्भ हो गई है इस परियोजना से अभी बहुत से क्षेत्रो को लाभ मिल पा रहा है।

बिजली क्षेत्र में निजी निवेश के और अधिक बढ़ने की संभावनाए बढ़ गई

साथ ही इस सफलता ने इस मिथक को तोड़ दिया की पन बिजली परियोजना में बहुत समय लगता है। लेकिन मलाणा के व्यावहारिक उदाहरण को देखते हुए मलाणा से अब पन बिजली क्षेत्र में निजी निवेश के और अधिक बढ़ने की संभावनाए बढ़ गई हैं।

इस प्रियोजना के निर्माण में कुल लागत 332.71 करोड़ रूपये आई

कुल्लू में स्तिथ इस परियोजना पर कार्य 29.9.1998 को आरम्भ किया गया था साथ ही इस प्रियोजना के निर्माण में कुल लागत 332.71 करोड़ रूपये आई थी,

साथ ही कुल्लू जिले की मलाणा जल विद्युत परियोजना का कार्य निर्धारित समयावधि 03 वर्ष से भी कम रिकार्ड समय में पूरा किया गया है हिमाचल प्रदेश में स्तिथ यह परियोजना एक अहम परियोजना हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *