हिमाचल प्रदेश में स्तिथ ये पांच राष्ट्रीय वन्यजीव अभयारण्य

national-parks-in-himachal-pradesh

हिमाचल प्रदेश एक पहाड़ी राज्य है यहां बहुत से लोकप्रिय और प्रसिद्ध पर्टयक स्थानो के साथ घने और खूबूसरत जंगल स्तिथ है। साथ ही यहां समृद्ध वनस्पति और जीव निवास करते है।

हिमाचल प्रदेश में कई राष्ट्रीय उद्यान और वन्यजीव अभयारण्य स्तिथ है जो अपनी अपनी लोकप्रियत एके लिए जाने जाते है।

इसी के साथ यह वन्यजीव अभयारण्य, संरक्षण भंडार और राष्ट्रीय उद्यान आगंतुक को हिमाचल प्रदेश के जंगल में आनंद लेने और अनुभव करने का एक बहुत अच्छा अवसर प्रदान करते हैं।

हर साल भारी संख्या में पर्टयक यहां घूमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है, हिमाचल प्रदेश प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर राज्य है।

हिमाचल प्रदेश में पंच राष्ट्रीय उद्यान स्तिथ है जो अपनी अपनी लोकप्रियता के लिए जाने जाते है, आज हम आप को अपनी इस पोस्ट के माद्यम से इन पांच राष्ट्रीय उद्यान की जानकारी देंगे। तो आइये जानते हैम इन राष्ट्रीय उद्यान के बारे में।

01 द ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क

द ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क (जीएचएनपी) हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में स्तिथ एक राष्ट्रीय पार्क है, यह भारत के राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है, इसी के साथ

हिमाचल प्रदेश में कुल्लू क्षेत्र में स्थित यह राष्ट्रीय उद्यान यह पार्क 1984 में स्थापित किया गया था और इसी के साथ 1,500 से 6,000 मीटर की ऊंचाई पर

1,171 किमी 2 के क्षेत्र में फैला हुआ है, साथ ही द ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क कई वनस्पतियों और 375 से अधिक जीवों की प्रजातियों का निवास स्थान है।

इसी के साथ इसमें लगभग 31 स्तनधारीयो के साथ 181 पक्षी तथा 3 सरीसृप के साथ 9 उभयचर, 11 कुंडलाकार, 17 मोलस्क और 127 कीड़े मौजूद हैं, इसी के साथ

उन्हें वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 के सख्त दिशानिर्देशों के तहत संरक्षित किया गया है। साथ ही इसलिए किसी भी प्रकार के शिकार की अनुमति नहीं है यदि यहां किसी ने भी किसी जिव का शिकार किया तो उस पर करवाई की जायेगी।

इसी के साथ जून 2014 में, ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क को विश्व धरोहर स्थलों की यूनेस्को सूची में भी जोड़ दिया गया है। इसी के साथ यूनेस्को विश्व विरासत

स्थल समिति ने कुल्लू में स्तिथ इस कुल्लू में स्तिथ “जैव विविधता संरक्षण के लिए इसे उत्कृष्ट महत्व” के मापदंड के तहत पार्क को दर्जा दिया गया है।

02 पिन वैली राष्ट्रीय उद्यान

हिमाचल प्रदेश के जिला लाहौल सप्ति में स्तिथ यह है, यह पिन घाटी राष्ट्रीय उद्यान स्पीति की घाटी में स्थितएक बहुत ही लोकप्रिय और प्रसिद्ध राष्ट्रीय पार्क है,

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश का एकमात्र राष्ट्रीय ऐसा उद्यान है, जो एक ठंडे रेगिस्तान क्षेत्र में स्थित है, इसी के साथ यह 675 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ

एक अद्भुत राष्ट्रीय उद्यान है, जानकारी के अनुसार यह पार्क 1987 में स्थापित किया गया था।

इसी के साथ पार्क जानवरों और पक्षियों की लगभग 20 प्रजातियों का घर है, इसी के साथ लुप्तप्राय हिम तेंदुए केसंरक्षण के लिए यह पार्क जाना जाता है, साथ ही

जानवर जो सामान्यतः यहाँ पाये जाते हैं। इसी के साथ पिन वैली की वनस्पति में लगभग 400 प्रजातियों के पौधों और जड़ी बूटियों के साथ मसालों के साथ मिलकर बनती है।

यहां बहुत सी लोकप्रिय और प्रसिद्ध जड़ी बुटिया पाई जाती है। इसी के साथ यहाँ पाई जाने वाली जड़ी बूटी में बहुत सारे औषधीय गुण पाए जाते है, इसी के साथ यहां पाई जानी वाली जड़ी बुटियो को दवा तैयार करने के लिए इस्तेमाल किया जा

सकता है। इसी के साथ यात्रियों को पिन वैली पार्क के निदेशक की अनुमति प्राप्त करने के उपरान्त ही इस पार्क में प्रवेश मिलता है। हर साल यहां भरी मात्रा में सैलानी घूमने और समय व्यतीत करने के लिए आते है।

03 इन्दर्कीला राष्ट्रीय उद्यान

हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में स्तिथ यह 2010 में स्थापित हुआ था, इन्दर्कीला राष्ट्रीय उद्यान देवभूमि कुल्लू स्तिथ एक एक नया बना राष्ट्रीय उद्यान है इसी के साथ 104 वर्ग किलोमीटर के विशाल क्षेत्र में फैला,

यह राष्ट्रीय उद्यान घरेलू और विदेशी वनस्पतियों और जीवों की कई प्रजातियों का घर माना जाता है, इसी के साथ यह समृद्ध समृद्ध वन्य जीवन का दावा करता

है। साथ ही भारत में कम से कम खोजे जाने वाले राष्ट्रीय उद्यानों में हिमाचल प्रदेश का यह एक माना जाता है।

यहां आप जानवरों और पौधों को उनके प्राकृतिक आवास में देख सकते हैं प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर इस पार्क में हर साल भरी मात्रा में पर्टयक यहां आते है, इसी के साथ इसके अलावा यह क्षेत्र घने जंगल और पहाड़ी इलाकों में ढका हुआ है।

प्राकृतिक सौंदर्य से भरपूर है। यह स्थान ट्रेकिंग और कैंपिंग के लिए भी जाना जाता है। इसी कारण से राष्ट्रीय उद्यान को साहसिक उत्साही, घूमने वाले, प्रकृति प्रेमी

और पसंद करते हैं, आप भी अपनी हिमाचल यात्रा के दौरान इस प्रक को अवश्य शामिल करे।

04 खीरगंगा नेशनल पार्क

खीरगंगा नेशनल पार्क हिमाचल प्रदेश में हाल ही में 2010 में स्थापित हुआ है, इसी के साथ खिरगंगा राष्ट्रीय उद्यान कुल्लू में स्थित है, जिसे देवभूमि के नाम से भी जाना जाता है,

इसी के साथ इसे देश के सबसे खूबसूरत राष्ट्रीय उद्यानों में से एक माना जाता है। हिमाचल प्रदेश का एक जगमगाता हुआ परिदृश्य, चमकदार हरी पहाड़ियां, घनी हरी झाड़ियां के साथ भरपूर है

इसी के साथ यह ऊंचे विशाल पेड़ों और जंगलों से भरे पुराने रेस्ट हाउसों के साथ आप समय व्यतीत कर सकते है। यह राष्ट्रीय उद्यान एक शुद्ध दृश्य आनंद और शांति से भरपूर है।

कुल्लू में स्तिथ यह लोकप्रिय स्थान पर्यटकों को पार्क के केंद्र से जाने वाले मार्ग पर ले जाया जाता है, इसी के साथ यहां विदेशी और समृद्ध वनस्पतियों और जीवों को देखना भी आसान हो जाता है।

यहां आप विभिन्न प्रजातियों से संबंधित एविफ़ुना की कई किस्मों को भी देख सकते हैं। जो आप को बहुत ही रोमांचित करेंगी। अपनी हिमाचल प्रदेश की यात्रा के दौरान इस स्थान को अवश्य शामिल करे।

05 सिम्बलबारा राष्ट्रीय उद्यान

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ यह राष्ट्रीय उद्यान हिमाचल प्रदेश के जिला सिरमौर में स्तिथ है जो अपनी लोकप्रियता के लिए देश विदेश में लोकप्रिय है, यह सिम्बलबरा

नेशनल पार्क भारत का एक राष्ट्रीय उद्यान है, यह हिमाचल प्रदेश के पांवटा घाटी में स्थित है। इसी के साथ यह वनस्पति में घने लवण वाले घने साल के जंगल होते हैं।

इसी के साथ यह संरक्षित क्षेत्र 1958 में 19.03 किमी के साथ सिम्बलबारा वन्यजीव अभयारण्य के रूप में बनाया गया था। सिरमौर में स्तिथ इस पार्क में 112010 में, 8.88 किमी का क्षेत्र और जोड़ा गया था। इसी के साथ यह एक राष्ट्रीय उद्यान में बनाया गया था। अपनी हिमाचल प्रदेश की यात्रा के दौरान इस स्थान को अवश्य शामिल करे।

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ इस सिम्बलबारा में एक वन रेस्ट हाउस पुरुवाला से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है साथ ही पोंटा घाटी का एक सुंदर दृश्य यहां आये पर्टयकों को प्रदान करता है। गोरल, सांभर और चित्तल यहां पाए जाने वाले आम

जानवर हैं इसी के साथ यहां आसपास के जंगलों में पैदल रास्ते भी स्तिथ हैं। इस पार्क की यात्रा के लिए सबसे सही समय अक्टूबर और नवंबर के बिच का माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *