संजय जलविद्युत परियोजना किन्नौर में स्तिथ एक भूमिगत जल विधुत परियोजना

संजय जलविद्युत परियोजना हिमाचल प्रदेश के जिला किन्नौर में स्थित एक अहम परियोजना है, जिसे भाबा नदी पर बनाया गया है, जानकारी के अनुसार यह परियोजना एक संपूर्ण भूमिगत परियोजना है, जिसमें कुल 120 मेगावॉट की स्थापित क्षमता के हिसाब से बनाया गया है।

यह बिजली परियोजना वर्ष 1989- 1990 में पूरी हो गई

संजय जलविद्युत परियोजना में प्रत्येक 40 मेगावाट की 3 इकाइयाँ स्थापित हैं। इस परियोजना की असाधारणता इसके भूमिगत स्विचयार्ड में है, इसी के साथ यहां यह बिजली परियोजना वर्ष 1989- 1990 में पूरी हो गई और उसके बाद यह चालू हो गई,

इस परियोजना की कुल लागत लगभग 167 करोड़ रूपये थी। परियोजना को पूरा करने के बाद सुरक्षित रखने वाली सुरंगों की पूरी लंबाई 12 किमी है, हिमाचल प्रदेश में स्तिथ यह एक लम्बी विधुत सुरंग है।

पानी का स्रोत भाभा नदी है और नदी का बेसिन सिंधु नदी

हिमाचल प्रदेश के जिला किन्नौर में स्तिथ इस संजय विद्युत परियोजना को (भाभा) जल विधुत परियोजना भी कहा जाता है। इसी एक साथ पनबिजली परियोजना 2000 में चालू है साथ ही यहां बिजली संयंत्र की स्वीकृत की

क्षमता 120 मेगावाट है। परियोजना का प्रकार मेजर है, क्योंकि यह 25 मेगावाट से अधिक है साथ ही इस पावर प्लांट की स्थिति पूरी हो गई है और आपरेशनल हैं। पानी का स्रोत भाभा नदी है और नदी का बेसिन सिंधु नदी है।

प्रदेश में स्तिथ यह बिजली परियोजना 1989 में पूरी हुई

इसी के साथ इस पावर प्लांट में भारत के उत्तर जलविद्युत क्षेत्र में स्थित है साथ ही पनबिजली संयंत्र का स्वामित्व और संचालन हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड करता है,

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस पावर प्लांट के लाभार्थी राज्य भारत के उत्तरी राज्य हैं, हिमाचल प्रदेश में स्तिथ यह बिजली परियोजना 1989 में पूरी हुई और उसी वर्ष से यह चालू भी कर दी गयी थी।

इस पनबिजली संयंत्र के टर्बाइन और जेनरेटर का निर्माण किया था

इस परियोजना में पॉवर स्टेशन में प्रयुक्त टरबाइन का प्रकार पेल्टन है, इसी के साथ भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड भारत में बिजली संयंत्र उपकरणों के निर्माण में प्रमुख खिलाड़ी है साथ ही उन्होंने इस पनबिजली संयंत्र के टर्बाइन और जेनरेटर का निर्माण किया था।

इसी के साथ इस पावर प्लांट की इकाई का आकार 120 मेगावाट है साथ ही किन्नौर में स्तिथ इस पावर प्लांट में प्रत्येक यूनिट के लिए 40 मेगावाट की स्थापित क्षमता के साथ 03 इकाइयां स्थापित की गयी हैं, इसी के साथ इन सभी इकाइयों को कमीशन दिया जाता है।

जलविद्युत संयंत्र किन्नौर की भाभा नदी में स्थित

यदि आप भी यहां आना चाहते है तो इस पोस्ट को अंत तक अवश्य देखे, हिमाचल प्रदेश के जिला किन्नौर में स्तिथ इस संजय परियोजन जलविद्युत संयंत्र किन्नौर की भाभा नदी में स्थित है, इसी के साथ आप यहां बस, ट्रेन या उड़ान द्वारा इस बिजली संयंत्र तक आसानी से पहुँच सकते हैं।

कैसे पहुंचे संजय जलविद्युत परियोजना

इसी के साथ किन्नौर से पावर स्टेशन के लिए नियमित बसें भी उपलब्ध हैं जिन में कुछ निजी तथा कुछ सरकारी है। इसी के साथ किन्नौर शहर में कोई रेलवे स्टेशन नहीं है, मगर जिला किन्नौर के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन कालका रेलवे स्टेशन है।

साथ ही किन्नौर शहर से लगभग 356 किमी की दूरी पर स्थित है। निकटतम हवाई अड्डा देहरादून है जंहा से आप यहां पहुंच सकते है। इसी के साथ जिला किन्नौर से 154 किलोमीटर दूरी पर स्तिथ है यह परियोजना।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *