07 माह बाद आज से स्कूलो और कॉलेजों में नियमित कक्षाएं लगना शुरू

corona in himachal

हिमाचल प्रदेश में करीब साढ़े सात माह बाद सोमवार से स्कूल और कॉलेजों में नियमित कक्षाएं लगना आज से शुरू हो जाएंगी प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया

जा रहा है की प्रदेश में स्कूलों में नौवीं से जमा दो और कॉलेजों में सभी विद्यार्थियों की कक्षाएं शुरू कर दी जायेगी।

कोचिंग संस्थानों के ताले भी अब खुल जाएंगे

इसी के साथ कोचिंग संस्थानों के ताले भी अब खुल जाएंगे। अभिभावकों के सहमति पत्र पर ही विद्यार्थियों को प्रवेश मिलेगा प्रदेश में कोरोना वायरस की बजह से बंद करना पड़ा था इन सभी शिक्षण संस्थानों को।

हाजिरी अनिवार्य नहीं होगी

इसी के साथ बताया जा रहा है की हाजिरी अनिवार्य नहीं होगी साथ ही ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रहेगी जो बच्चे स्कूल महि आना चाहते वो घर में बैठ कर पढ़ाई जारी रख सकते है, इसी के साथ बताया जा रहा है की अधिक

विद्यार्थियों वाले संस्थानों में शिफ्ट या एक दिन छोड़कर कक्षाएं लगाई जाएंगी इसी के साथ फेस मास्क सभी के लिए पहनना जरूरी होगा साथ ही कोरोना के चलते थर्मल स्क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन भी होगी।

विद्यार्थियों को एक सीट छोड़कर बिठाया जाएगा

इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है की माइक्रो प्लान के तहत विद्यार्थियों को एक सीट छोड़कर बिठाया जाएगा, साथ ही सभी शिक्षकों और विद्यार्थियों को सही तरीके से मास्क लगाना अनिवार्य होगा, सभी कक्षाओं में सिटिंग

प्लान तय करने को स्कूल-कॉलेजों को विशेष कमेटियां बनाने के निर्देश बी दिए गए हैं, ताकि छात्रों के बिच उचित दुरी बनी रहे, इसी के साथ 29 अक्तूबर को उच्च शिक्षा निदेशालय ने sop जारी की है।

नियमित कक्षाओं के दौरान स्कूलों में प्रार्थना सभाएं भी आयोजित नहीं की जायेगी

इसी के साथ बताया जा रहा है कि निर्धारित से अधिक तापमान वाले शिक्षकों और विद्यार्थियों को संस्थान में प्रवेश नहीं मिल सकेगा साथ ही नियमित कक्षाओं के दौरान स्कूलों में प्रार्थना सभाएं भी आयोजित नहीं की जायेगी होंगी।

स्कूलों में खेलकूद की गतिविधियों पर भी रोक रहेगी

इसी के साथ स्कूलों में खेलकूद की गतिविधियों पर भी रोक रहेगी, साथ ही परिसर में कहीं भी शिक्षक और विद्यार्थी समूह में एकत्रित नहीं होने दिए जाएंगे, इस का ध्यान रखा जाएगा की अधिक छात्र एक ही स्थान में एकत्रित ना हो।

शिक्षण संस्थानों में सर्दियों की छुट्टियां नहीं दी जाएंगी

इसी के साथ इतने समय से बंद पड़े स्कूलों म अब इस बार जनवरी और फरवरी में भी नियमित कक्षाएं लगेंगी। साथ ही कोरोना संकट के चलते इस बार शीतकालीन

छुट्टियों वाले शिक्षण संस्थानों में सर्दियों की छुट्टियां नहीं दी जाएंगी, साथ ही नवंबर या दिसंबर की कैबिनेट बैठक में इसको लेकर अंतिम फैसला लिया जाएगा तथा उस पर सोच विचार किया जाएगा।

खांसी, बुखार और जुकाम जैसे कोरोना वायरस के लक्षण वाले शिक्षकों और विद्यार्थियों को शिक्षण संस्थानों में प्रवेश नहीं

इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है की खांसी, बुखार और जुकाम जैसे कोरोना वायरस के लक्षण वाले शिक्षकों और विद्यार्थियों को शिक्षण संस्थानों में प्रवेश नहीं मिलेगा तथा ऐसे सभी व्यक्तियों को घर ही रहने के लिए कहा जाएगा,

साथ ही बीते दिनों प्रदेश के कई स्कूलों में शिक्षकों के पॉजिटिव पाए जाने के बाद शिक्षा निदेशालय ने यह फैसला लिया की किसी भी प्रकार का कोई लक्षण पाए जाने पर उसे घर भेज दिया दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *