हिमाचल के 10 विश्वविद्यालयों ने नियमों को दरकिनार कर कुलपतियों का किया चयन

universities of himachal

हिमाचल प्रदेश में उच्च शिक्षा दे रहे 10 विश्वविद्यालयों ने नियमों को दरकिनार कर कुलपतियों का चयन कर लिया गया है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है, की हिमाचल में 08 निजी विश्वविद्यालयों ने चयन

को कमेटियों तक का गठन नहीं किया गया है, इसी के साथ बताया जा रहा है की 10 वर्ष तक प्रोफेसर के पद का अनुभव रखने वाले व्यक्ति को ही कुलपति बनाने का UGC ने प्रावधान किया है।

02 विश्वविद्यालयों ने निर्धारित 70 वर्ष से अधिक उम्र वालों को कुलपति बना दिया

इसी के साथ बताया जा रहा है की लेकिन इन विश्वविद्यालयों में नियुक्ति के समय इसका ध्यान नहीं रखा गया है, साथ ही बताया जा रहा है की 02 विश्वविद्यालयों ने निर्धारित 70 वर्ष से अधिक उम्र वालों को कुलपति बना दिया है।

जिस को लेकर सवाल उठ रहे है, साथ ही यह खुलासा निजी शिक्षण संस्थान नियामक आयोग की ओर से निजी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों की शैक्षणिक योग्यता और नियुक्ति प्रक्रिया की जांच को गठित कमेटी की रिपोर्ट में किया गया है।

हिमाचल के 10 विश्वविद्यालयों के कुलाधिपतियों से 10 दिसंबर तक रिपोर्ट देने को कहा

इसी के साथ बताया जा रहा है की इस रिपोर्ट पर कड़ा संज्ञान लेते हुए आयोग ने यह सभी प्रदेश के 10 विश्वविद्यालयों के कुलाधिपतियों से 10 दिसंबर तक रिपोर्ट देने को कहा है, इन कुलपतियों को रिपोर्ट देने को कहा है।

इसी के साथ कुलपतियों का पक्ष पूछने को भी कहा गया है, इसी के साथ अरनी, इंडस, बाहरा, एपीजी, इटरनल, आईसीएफएआई, चितकारा, एमएमयू विश्वविद्यालय में यूजीसी से तय नियुक्ति नियमों की अनदेखी की गई है।

02 विश्वविद्यालयों बद्दी और शूलिनी ने निर्धारित 70 वर्ष की आयु से अधिक उम्र वालों को कुलपति बना दिया

साथ ही 02 विश्वविद्यालयों बद्दी और शूलिनी ने निर्धारित 70 वर्ष की आयु से अधिक उम्र वालों को कुलपति बना दिया, इसी के साथ बताया जा रहा है की आईसीएफएआई विवि बद्दी, इटरनल विश्वविद्यालय बडू साहिब सिरमौर, चितकारा विवि बरोटीवाला,

बाहरा विश्वविद्यालय वाकनाघाट, के साथ बद्दी यूनिवर्सिटी ऑफ इमर्जिंग साइंस एंड टेक्नालॉजी, शूलिनी विवि सोलन के साथ एमएमयू कुमारहट्टी, APG विवि शिमला, अरनी विवि काठगढ़ कांगड़ा और इंडस विवि ऊना शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *