ACC सीमेंट फैक्टरी से 04 पंचायतों में 32 बच्चे मानसिक रूप से कमजोर

acc cemant factory

हिमाचल प्रदेश में ACC सीमेंट फैक्टरी से सटीं बिलासपुर जिले की 04 पंचायतों में पिछले 20 सालों में 32 बच्चे मानसिक रूप में कमजोर पैदा हुए हैं, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है, इनमें से 11 बच्चे एक ही गांव के है।

यह पंचायतें सीएचसी पंजगाईं के तहत आती हैं साथ ही करीब ढाई साल पहले तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार के आदेशों के बावजूद आज तक स्वास्थ्य विभाग इस बात की जानकारी नहीं लगा पाया है कि इसके पीछे क्या कारण हैं।

हरनोड़ा पंचायत में 20, बैरी पंचायत में 1, गुग्गा भटेड़ में 05 कमजोर पैदा हुए

हिमाचल के जिला बिलासपुर में स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार यदि देखा जाए तो हरनोड़ा पंचायत में 20, बैरी पंचायत में 1, गुग्गा भटेड़ में 5, धार टटोह में 3 और बलोह में 03 बच्चे मानसिक रूप से कमजोर पाए गए हैं, जो साल 2000 से 2020 के बीच पैदा हुए हैं।

इसी के साथ इसका खुलासा जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी के आदेश पर बीएमओ की ओर से तैयार रिपोर्ट में हुआ है,इसी के साथ चिकित्सकों ने मौके पर जाकर इसका डाटा तैयार किया है।

मानसिक रूप से कमजोर होने के कारणों का पता लगाने के लिए रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दिए थे

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की स्वास्थ्य मंत्री रहते विपिन परमार ने जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी और जिला उपायुक्त को इन बच्चों के मानसिक रूप से कमजोर होने के कारणों का पता लगाने के लिए रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दिए थे मगर उस के बाद भी इस की कोई जानकारी नहीं मिल पाई, उसके बाद एक टीम बनाकर मिट्टी और पानी की जांच को भी कहा था।

स्वास्थ्य विभाग ने ऐसे बच्चों का डाटा तो तैयार किया

इसी के साथ स्वास्थ्य विभाग ने ऐसे बच्चों का डाटा तो तैयार किया लेकिन, इस बात का कोई निष्कर्ष नहीं निकला कि ये मानसिक रूप में कमजोर कैसे पैदा हुए इस बारे में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं मिल पाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *