ई-नाम मोबाइल ऐप के माध्यम से सेब बेचकर एक नया कीर्तिमान स्थापित

e naam aap

देश भर में बदलते समय और नई तकनीक के साथ-साथ किसान बागबान भी अब हाईटेक हो गए है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की इसका ताजा उदाहरण हिमाचल प्रदेश में इस वर्ष समाप्त हुए सेब सीजन के दौरान भी देखने को मिला है।

केंद्र सरकार की महत्त्वकांक्षी योजनाओं में एक यह योजना

इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है की केंद्र सरकार की महत्त्वकांक्षी योजनाओं में एक राष्ट्रीय कृषि बाजार यानर ई-नाम के तहत मोबाइल ऐप के माध्यम से हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला जिला के जुब्बल क्षेत्र के

एक बागबान ने कृषि उपज एवं मंडी समिति सोलन की सहायता से सेब मंडी सोलन में सेब बेचकर एक नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया है।

हिमाचल प्रदेश में अपनी तरह का यह पहला ऐसा मामला

इसी के साथ बताया जा रहा है की हिमाचल प्रदेश में अपनी तरह का यह पहला ऐसा मामला है, जिसके तहत किसी बागबान ने नए डिजिटल प्रणाली का बखूबी प्रयोग कर लाभ कमाया है।

इसी के साथ बताया जा रहा है की बागवान ने अपने उत्पाद को सीधे अपने बागीचे से व्यापारियों को बेच दिया जिस बजह से वो बचोलियो से बच गया था अपने सेब का सही दाम हासिल कर पाया है।

राष्ट्रीय कृषि बाजार के अंतर्गत हर वर्ष कृषि उपज मंडी समिति के तहत करोड़ों रुपए का कारोबार

इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है की राष्ट्रीय कृषि बाजार के अंतर्गत हर वर्ष कृषि उपज मंडी समिति के तहत करोड़ों रुपए का कारोबार किया जाता है, साथ ही

बताया जा रहा है की हिमाचल प्रदेश ऐसा पहली दफा हुआ है जब योजना के तहत मोबाइल ऐप के माध्यम से सीधे बागीचे में ही सेब की बोली लगाई गई है, तथा सेबो को सीधे बगीचे से बेचा गया है।

राष्ट्रीय कृषि बाजार की वेबसाइट पर एवं गूगल प्ले स्टोर से ई-नाम ऐप को डाउनलोड किया जा सकता

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की मोबाइल ऐप के माध्यम से बागबान ने एक लाख रुपए से अधिक का सेबो को बेच कर लाभ कमाया है, इसी के

साथ बागवान कृषि उपज एवं मंडी समिति सोलन की माने तो राष्ट्रीय कृषि बाजार की वेबसाइट पर एवं गूगल प्ले स्टोर से ई-नाम ऐप को डाउनलोड किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *