बागवानी उद्यान प्रसार केंद्रों में मिलने वाली कीटनाशकों दवाइयों की आपूर्ति बंद

himachal pradesh ag

हिमाचल प्रदेश सरकार ने आने वाले सेब सीजन से पहले ही प्रदेश में फैले कोरोना संकट के दौरान बागवानी विभाग के उद्यान प्रसार केंद्रों से अनुदान पर मिलने वाले कीटनाशकों और दवाइयों की आपूर्ति को बंद करने की योजना बनाई है,

इसी के साथ बताया जा रहा है की हिमाचल प्रदेश में बागवानों को दवाएं निजी दुकानों से बाजार मूल्य से खरीदनी होंगी।

सरकार बागवान के खाते में सब्सिडी की राशि जमा करवाएगी जायेगी

इसी के साथ बताया जा रहा है की बागवानी विभाग में बिल जमा करवाने के बाद सरकार बागवान के खाते में सब्सिडी की राशि जमा करवाएगी जायेगी, इसी के

साथ उद्यान उपनिदेशक मंडी अशोक धीमान ने इसकी पुष्टि की है, साथ ही हिमाचल प्रदेश सरकार आगामी वित्त वर्ष में यह योजना लागू करने जा रही है।

हैंडलिंग चार्ज भी समाप्त होगा साथ ही जिसका सीधा लाभ बागवानों को मिलेगा

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश में बागवानी विभाग के अंतर्गत जिन बागवानों के उद्यान कार्ड बने हैं उन्हें अब इस योजना का लाभ मिलेगा साथ ही इससे विभाग की ओर से बागवानों से लिया जाने वाला हैंडलिंग चार्ज भी

समाप्त होगा साथ ही जिसका सीधा लाभ बागवानों को मिलेगा, जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश में किराए पर लिए स्टोरों के खर्चे पर भी इस योजना से विराम लगेगा।

सरकार फलों का उत्पादन करने वाले बागवानों को प्रति हेक्टेयर 2 हजार रुपये अनुदान देगी

इसी के साथ प्रदेश बागवानी विभाग सेब का उत्पादन करने वाले बागवानों को प्रति हेक्टेयर 4 हजार और गुठलीदार फलों का उत्पादन करने वाले बागवानों को प्रति हेक्टेयर 2 हजार रुपये अनुदान देगी,

जो उन के बैंक के खातों में डाल दी जायेगी, इसी के साथ विभाग यह अनुदान बागवानों को डीबीटी (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) योजना के जरिये देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *