दिवाली के अवसर पर बच्चो को वायु और ध्वनि प्रदूषण का विशेष पाठ पढ़ाया जाएगा

dipavli

हिमाचल प्रदेश में दिवाली पर वायु और ध्वनि प्रदूषण कम करने का बच्चों को विशेष पाठ पढ़ाया जाएगा प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की इस

सप्ताह ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान विद्यार्थियों को विशेष तौर पर शिक्षकों की ओर से जागरूक किया जाएगा।

नियंत्रण बोर्ड की अपील पर उच्च शिक्षा निदेशालय ने यह फैसला लिया

इसी के साथ प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की अपील पर उच्च शिक्षा निदेशालय ने यह फैसला लिया है साथ ही बताया जा रहा है, इसी के साथ साइलेंस जोन में पटाखे न चलाने की भी विद्यार्थियों को जानकारी दी जाएगी ताकि उन्हें इस बारे में जानकारी मिल सके।

बच्चों को जागरूक करने से समाज का अधिकांश हिस्सा जागरूक होता

इसी के साथ बताया जा रहा है की उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने बताया कि बच्चों को जागरूक करने से समाज का अधिकांश हिस्सा जागरूक होता है, यही देश का भविष्य है, साथ ही बच्चे अपने

परिवार, रिश्तेदारों और आस-पड़ोस को जागरूक करेंगे, इसी के साथ इस प्रयास से वायु और ध्वनि प्रदूषण करने में काफी मदद मिलेगी।

ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान विद्यार्थियों को वायु और ध्वनि प्रदूषण के नुकसान से अवगत करवाया जाएगा

इसी के साथ सोमवार से शुक्रवार तक ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान विद्यार्थियों को वायु और ध्वनि प्रदूषण के नुकसान से अवगत करवाया जाएगा साथ ही व्हाट्सएप के माध्यम से डिजिटल शिक्षण सामग्री भेजी जाएगी जिस से छात्रों को इस बारे में जानकारी मिलेगी।

कोविड केयर सेंटरों के आसपास विशेष तौर पर पटाखे न चलाने की बच्चों से अपील की जाएगी

इसी के साथ प्रशासन की ओर से तय किए गए साइलेंस जोन जैसे अस्पताल, कोविड केयर सेंटरों के आसपास विशेष तौर पर पटाखे न चलाने की बच्चों से

अपील की जाएगी, इन सभी स्थानों पर पटाको को चलाने पर मनाही है, इसी के साथ दीपों के इस उत्सव को हर्षोल्लास से मनाने के तरीके भी बताए जाएंगे।

आतिशबाजी का कम से कम प्रयोग करने को लेकर बच्चों को जागरूक किया जाएगा

इसी के साथ आतिशबाजी का कम से कम प्रयोग करने को लेकर बच्चों को जागरूक किया जाएगा, साथ ही इस विशेष प्रयास में शिक्षा विभाग की प्रदूषण

नियंत्रण बोर्ड मदद करेगा, जानकारी के अनुसार बोर्ड की ओर से भी हिमाचल प्रदेश में इस बाबत जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *