करोड़ों की लगत से बने हमीरपुर सिंथेटिक ट्रैक को कुछ शरारती तत्वों ने पहुंचाया नुक्सान

hamirpur himachal

हिमाचल प्रदेश में खेल प्रतिभाओं को उभारने के लिए सरकारें समय-समय पर काफी प्रयास करती रहती हैं, जिस से खेल जगत में विकास हो सके, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है।

इस खेल जगत का सही रख-रखाव के अभाव में कई बार करोड़ों के एसेट्स भी बर्बाद होने लगते हैं, इसी के साथ कुछ ऐसा ही हाल हिमाचल प्रदेश के जिला हमीरपुर के सिंथेटिक ट्रैक का हो रहा है।

आसामाजिक तत्त्वों के अंदर आने की बाते सामने आ रही है

इसी के साथ यहां कभी टै्रक पर साइकिल चलाते हुए वीडियो वायरल होते हैं, तो कई बार कुछ आसामाजिक तत्त्वों के अंदर आने की बाते सामने आ रही है, इसी के साथ प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की अब जो करोड़ों से निर्मित इस ट्रैक में हुआ है।

यह एक चौंकाने वाला तथ्य है, इसी के साथ मिली जानकारी के अनुसार जानकारी मिली है कि इस टै्रक की मैट को अज्ञात लोगों ने दिवाली के शुभ अवसर में कुछ जगहो से ट्रेक को जला दिया गया है।

शरारती तत्वों ने इस पर दीये जलाए हैं या फिर पटाखे फोड़े

इसी के साथ ऐसा लग रहा है कि या तो किसी शरारती तत्वों ने इस पर दीये जलाए हैं या फिर पटाखे फोड़े हैं। इसी के साथ खेल प्रेमी इस घटना से आहत हैं, इसी के साथ सवाल उठ रहे हैं कि खेल विभाग,

जिसके पास इस सिंथेटिक ट्रैक की रखवाली का जिम्मा है, साथ ही वह क्यों इसे ढंग से देख नहीं पा रहा है, इस को लेकर सवाल उठ रहे है।

खेल विभाग की ओर से एक कोच और ग्राउंडमैन की तैनाती हमीरपुर में स्तिथ इस सिंथेटिक ट्रैक के लिए की गई

प्राप्त जानकारी के अनुसार सूचना मिलने पर जिला खेल विभाग की ओर से मौके का जायजा भी लिया है, इसी के साथ मिली जानकारी के अनुसार बता दें कि खेल विभाग की ओर से एक कोच और ग्राउंडमैन की तैनाती

हमीरपुर में स्तिथ इस सिंथेटिक ट्रैक के लिए की गई है, लेकिन फिर भी अज्ञात लोगों का इस तरह इस सिंथेटिक ट्रैक पर दीवाली मनाना समझ से परे है।

विभाग का ऑफिस जो कि इस समय प्रदेश के जिला हमीरपुर बस स्टैंड के पास स्तिथ

इसी के साथ बताया जा रहा है कि ऐसी घटनाओें को देखते हुए खेल विभाग का ऑफिस जो कि इस समय प्रदेश के जिला हमीरपुर बस स्टैंड के पास स्तिथ है,

उसे अणु स्थित सिंथेटिक ट्रैक के पास शिफ्ट करने की योजना बनाई जा रही है, इसी के साथ खैर ऑफिस शिफ्ट कब होगा, इस की जानकारी यह तो अभी कहना जल्दबाजी होगा।

खेल प्रतिभाओं को देखते हुए यहां सिंथेटिक ट्रैक का निर्माण करवाया था

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने होंगे, इसी के साथ बताया जा रहा है की जब प्रो. प्रेम कुमार धूमल हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे, तो उन्होंने हमीरपुर की खेल प्रतिभाओं को देखते हुए यहां सिंथेटिक ट्रैक का निर्माण करवाया था।

इसी के साथ इसकी लागत 07 करोड़ रुपए बताई जाती है, हिमाचल प्रदेश में सिंथेटिक ट्रैक की बात करें तो हमीरपुर के अलावा धर्मशाला और बिलासपुर में ही

सिंथेटिक ट्रैक बनाए गए हैं, जिन पर कुछ शरारती तत्वों द्वारा सिंथेटिक ट्रैक को नुक्सान पहुंचाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *