मजदूर संगठन सीटू ने किया 01 दिसंबर को हिमाचल में प्रदर्शन करने का एलान

CTU

हिमाचल प्रदेश तथा नई दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में मजदूर संगठन सीटू ने 01 दिसंबर को हिमाचल प्रदेश में प्रदर्शन करने का एलान कर दिया है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की

मजदूर संगठन ने 03 किसान विरोधी कानूनों को लेकर किसानों के दिल्ली मार्च का समर्थन किया है, इसी लिए अब दिल्ली के साथ साथ हिमाचल प्रदेश में भी इस तीन किसान बिल का आंदोलन करेंगे।

सीटू प्रदेशाध्यक्ष विजेंद्र मेहरा और महासचिव प्रेम गौतम ने जानकारी दी

इसी के साथ बताया जा रहा है की सीटू प्रदेशाध्यक्ष विजेंद्र मेहरा और महासचिव प्रेम गौतम ने जानकारी देते हुए कहा कि भाजपा सरकारें किसानों को कुचलने पर आमादा हैं, इसी के साथ अब किसान आंदोलन को दबाने से

जाहिर हो चुका है साथ ही दोनों सरकारें पूंजीपति घरानों के साथ हैं, साथ ही उनकी मुनाफाखोरी सुनिश्चित करने के लिए किसानों की आवाज को दबाना चाहती हैं मगर हम ऐसा नहीं होने देंगे इस पर कड़ा विरोध किया जाएगा।

लाखों किसान ट्रैक्टरों के साथ मैदान में

साथ ही देश और प्रदेश के किसानों को ऐतिहासिक आंदोलन के लिए बधाई दी है, इसी के साथ लाखों किसान ट्रैक्टरों के साथ मैदान में हैं इसी के साथ प्रदेश सरकार की लाठी, गोली, आंसू गैस, सड़कों पर गड्ढे खोदना,

बैरिकेड व पानी की बौछारें भी किसानों के हौसलों पस्त नहीं कर पा रहे हैं, साथ ही उन्होंने मजदूरों से अपील की है कि वे 01 दिसंबर को हिमाचल प्रदेश में केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोलेगी।

तीनों नए कृषि कानून पूर्णतया किसान विरोधी

इसी के साथ उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की ओर से लाए गए इस तीनों नए कृषि कानून पूर्णतया किसान विरोधी हैं साथ ही इन कानूनों से फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य की अवधारणा को समाप्त कर दिया जाएगा जिस से प्रदेश के और देश के छोटे क्सिजनो को बेहद हानि हो सकती है।

वस्तु अधिनियम के कानून को खत्म करने से जमाखोरी, कालाबाजारी व मुनाफाखोरी को बढ़ावा मिलेगा

इसी के साथ आवश्यक वस्तु अधिनियम के कानून को खत्म करने से जमाखोरी, कालाबाजारी व मुनाफाखोरी को बढ़ावा मिलेगा, इसी के साथ इससे बाजार में

खाद्य पदार्थों की बनावटी कमी पैदा होगी व खाद्य पदार्थ महंगे हो जाएंगे जिससे मांग और कीमत पर भी बुरा प्रभाव पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *