पिछले करीब 5 साल से दलाईलामा की नगरी मैक्लोडगंज में रह रहे थे आसिफ बसरा

aasif basra

पिछले कल हिमाचल प्रदेश के जिला काँगड़ा के पर्टयक स्थान मैक्लोडगंज में बालीवुड अभिनेता आसिफ बसरा का आत्महत्या का मामला सामने आया है,

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की आसिफ बसरा का दिल शहरों में न होकर पहाड़ों में लगता था।

इसी लिए वो अपना अधिकतर समय पहाड़ो में ही व्यतीत करते थे। यही वजह थी कि वह पिछले करीब 5 साल से दलाईलामा की नगरी मैक्लोडगंज में 01 आम आदमी की तरह अपना जीवन व्यतीत कर रहे थे।

आसिफ बसरा ने मैक्लोडगंज में लीज पर 02 घर ले रखे थे

इसी के साथ कई लोगो को तो यह भी नहीं पता था की वो कई समय से मक्लोडगजं में रह रहे थे। इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है कि वह धर्मशाला से बाहर तभी

जाते थे जब उनको कहीं दूसरी जगह फिल्म की शूटिंग करनी होती थी, उन्होंने धर्मशाला के मैक्लोडगंज में लीज पर 02 घर ले रखे थे।

पिछले 05 साल में आसिफ हिमाचली संस्कृति से बहुत ज्यादा घुल मिल गए थे

इसी के साथ मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की उनका सपना था कि वह धर्मशाला में अपना एक घर बनाएं तथा वो पिछले 05 साल में आसिफ हिमाचली संस्कृति से बहुत ज्यादा घुल मिल गए थे।

इसी लिए उन्होंने मैक्लोडगंज के आसपास के गांवों में शाही समारोहों के मौकों पर आसिफ बिन बुलाए ही चले जाते थे, तथा खासकर वो गद्दी समुदाय की कला और संस्कृति को बहुत ही पसंद करते थे।

साथ ही वह पहाड़ की संस्कृति और रिश्तों को बहुत ही बारीकी से समझते थे, इसी के साथ वह नीचे बैठकर कांगड़ी धाम का स्वाद लेते थे, ऐसा उन्होंने बहुत बार की है।

आसिफ बसरा ने बॉलीबुड के साथ-साथ हिमाचली फिल्म में भी अपना अहम किरदार निभाया

इसी के साथ इन्होने बॉलीबुड के साथ साथ हिमाचली फिल्म में भी अपना अहम किरदार निभाया है। इसी के साथ उन्होंने हिमाचली फीचर फिल्म सांझ के निर्देशक अजय सकलानी ने जानकारी देते हुए कहा की आसिफ

बसरा बेहद सरल स्वभाव के थे, ऐसे में आत्महत्या का यह मामला कुछ समज में नहीं आ रहा है। इसी के साथ यह भी कहा की उनको पहाड़ से विशेष लगाव था।

सांझ में काम करने के लिए यह रखी थी आसिफ बसरा ने शर्ते

इसी के साथ आसिफ को वह पिछले 06 सालो से जानते थे, इसी के साथ हिमाचली फिल्म सांझ में काम के लिए उन्होंने आसिफ को ऑफर किया था, इसी के लिए सांझ फिल्म करने से पहले आसिफ ने शर्त रखी थी कि अगर

शूटिंग शहर में होगी तो वह इस फिल्म में काम नहीं करेंगे, उन्होंने कहा था की शूटिंग अगर गांवों में होगी तभी वह इस फिल्म में काम करेंगे।

काँगड़ा का धर्मशाला का उनका सबसे पसंदीदा स्थल था

इसी के साथ उन्हें शहर पसंद नहीं वो अपना अधिकतर समय पहाड़ो के करीब ही बिताते थे, साथ ही ही भी पता चला है की जिला काँगड़ा का धर्मशाला का उनका सबसे पसंदीदा स्थल था, इसी के साथ आसिफ बसरा मूलत: महाराष्ट्र के अमरावती के निवासी थे,

साथ ही उन्होंने 1989 में उन्होंने मुंबई का रुख किया था तथा शुरुआत थियेटर से की इसी के साथ उन्होंने 2016 में अभिनीत गुजराती फिल्म रोंग साइड राजू में कार्य किया था तथा उस फिल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार मिला था।

इन फिल्मो में किया था काम आसिफ बसरा ने

इसी के साथ आसिफ बसरा ने विभिन्न फिल्मो में कार्य किया था जिसमे ब्लैक फ्राइडे, क्रिश 3, आउटसोर्सड, हिचकी, जब वी मेट, पाताल लोक, एक विलेन, फ्रीकी अली, लम्हा, वन्स अपॉन ए टाइम इन मुंबई, वेब सीरीज

हॉस्टेजस सहित कई मलयालम और गुजराती फिल्मों के अलावा हिमाचल की फिल्म सांझ में भी काम किया था, जिसे लोगो द्वारा बहुत ही पसंद किया गया था, इसी के साथ इन फिल्मो को कई अवार्ड भी मिल चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *