पंचायती राज संस्थाओं और शहरी निकायों के चुनाव में करीब 05 लाख नए वोटर

panchayat himachal

हिमाचल प्रदेश में इस बार पंचायती राज संस्थाओं और शहरी निकायों के चुनाव में करीब 05 लाख नए वोटरों को पहली बार मत डालने का अधिकार प्राप्त होगा, इसी के साथ प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की यह नए वोटर 18 साल की उम्र पूरी कर चुके हैं।

चुनाव आयोग ने इस साल पहली बार अपनी शक्ति का प्रयोग किया

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश चुनाव आयोग ने इस साल पहली बार अपनी शक्ति का प्रयोग किया है, साथ ही बताया जा रहा है की इस बार चुनाव वर्ष से ठीक पहले 1 दिसंबर, 2020 तक 18 साल पूरे कर चुके नए वोटरों को मतदाता सूची में शामिल करने को कहा है।

1 जनवरी को 18 साल की उम्र पूरी कर चुके नए वोटरों को वोटर लिस्ट में शामिल किया गया

इसी के साथ राज्य चुनाव आयोग अभी तक निर्वाचन आयोग की तिथि के अनुसार चुनाव वर्ष से पहले की 1 जनवरी को 18 साल की उम्र पूरी कर चुके नए वोटरों को वोटर लिस्ट में शामिल करता रहा है, जिस से हर साल नए वोटर वोट देने के लिए बाध्य होते है।

पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव 05 साल की अवधि पूरी होने से पहले कराने हैं

इसी के साथ राज्य चुनाव आयोग को पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव 05 साल की अवधि पूरी होने से पहले कराने हैं, इसी के साथ यह 05 साल की अवधि 22 जनवरी, 2021 को पूरी हो जानी है, इसी के साथ राज्य चुनाव

आयोग ने इस बार वोटर लिस्ट में उन नए वोटरों के नाम को भी शामिल करने को कहा है, जो 1 दिसंबर, 2020 को 18 साल पूरे कर लेंगे, उन सभी को इस बार वोटर लिस्ट में शामिल किया जाएगा।

05 लाख नए वोटर पहली बार चुनाव में वोट डाल पाएंगे

इसी के साथ 1 जनवरी, 2020 को 18 साल पूरे होने वाले वोटरों की संख्या 3.65 लाख थी, साथ ही अब यह अवधि बढ़ने से यह संख्या बढ़कर करीब 05 लाख तक

पहुंचेगी और ये वोटर पहली बार चुनाव में वोट डाल पाएंगे तथा अपने प्रतिनिधि का चयन कर पाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *