नियमों की अवहेलना करने पर होगी अब निजी विश्वविद्यालयों में कुलपतियों की छुट्टी

himachal

हिमाचल प्रदेश के निजी विश्वविद्यालयों में अब नियमों की अवहेलना कर लगे कुलपतियों की छुट्टी होना तय हो गया है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की हिमाचल प्रदेश के निजी शिक्षण संस्थान नियामक

आयोग ने सभी कुलपतियों की शैक्षणिक योग्यता और नियुक्ति प्रक्रिया की जांच पूरी कर ली है, इसी के साथ बताया जा रहा है की शुक्रवार को 03 सदस्यीय जांच

कमेटी ने कुलपतियों के मामले की जांच कर रिपोर्ट आयोग के अध्यक्ष को सौंप दी है जिस पर जल्द ही करवाई की जायेगी।

आयोग अध्यक्ष मेजर जनरल सेवानिवृत्त अतुल कौशिक की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में होगी आगमी करवाई

इसी के साथ बताया जा रहा है की अब शनिवार को आयोग अध्यक्ष मेजर जनरल सेवानिवृत्त अतुल कौशिक की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में रिपोर्ट के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी यदि अब विद्यालय में

कोरोना वायरस को लेकर यदि लापरवाही की तो उस पर करवाई की जायेगी। हिमाचल प्रदेश में कुछ निजी विश्वविद्यालयों के कुलपति UGC के निर्देशानुसार नियुक्तियों के लिए तय नियमों को पूरा नहीं कर पा रहे हैं।

कुलपतियों को लेकर आयोग के पास शिकायतें दर्ज

इसी के साथ बताया जा रहा है की अधूरी योग्यता से लगे इन कुलपतियों को लेकर आयोग के पास शिकायतें आई थीं, साथ ही 02 विश्वविद्यालयों के कुलपतियों ने इसी बीच अपने पदों से इस्तीफे भी दे दिए थे साथ ही बताया जा रहा है।

तीन सदस्यीय कमेटी का गठन

इस मामले की गंभीरता को देखते हुए आयोग ने कुलपतियों की नियुक्ति प्रक्रिया की जांच को हायर एजूकेशन काउंसिल के अध्यक्ष प्रो. सुनील गुप्ता की अध्यक्षता में बीते कुछ दिनों तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया था।

कुलपति प्रो. सीएल चंदन को बतौर सदस्य शामिल किया गया

इसी के साथ बताया जा रहा है की इस कमेटी में तकनीकी विवि हमीरपुर के कुलपति प्रो. एसपी बंसल और सरदार वल्लभ भाई पटेल क्लस्टर विवि मंडी के कुलपति प्रो. सीएल चंदन को बतौर सदस्य शामिल किया गया है।

इसी के साथ जांच कमेटी ने सभी विश्वविद्यालयों का रिकॉर्ड जांचने के बाद शुक्रवार को रिपोर्ट नियामक आयोग के अध्यक्ष को सौंपी है। जिस पर चर्चा की जायेगी।

हमीरपुर विजिलेंस टीम ने वन विभाग के एक रेंज ऑफिसर को रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

हिमाचल प्रदेश में वन विभाग के एक रेंज ऑफिसर को रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोचा गया है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की प्रदेश के जिला हमीरपुर विजिलेंस टीम ने केस दर्ज कर अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया तथा उन पर करवाई की जा रही है।

साथ ही इस आरोपी रेंज ऑफिसर ने लकड़ी की ढुलाई के लिए ट्रांसपोर्ट परमिट की एवज में शिकायतकर्ता से 1,000 मांगे थे। साथ ही बताया जा रहा है की जानकारी

के मुताबिक गाड़ी हमीरपुर के आग्घार से लकड़ी लेकर हरियाणा जा रही थी जिस पर रोक लगा कर यह करवाई की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *