पैराग्लिडिंग घाटी बिलिंग में रविवार को किया गया औचक निरीक्षण

himachal pradesh

हिमाचल प्रदेश के जिला काँगड़ा की विख्यात पैराग्लिडिंग घाटी बिलिंग में रविवार को औचक निरीक्षण के दौरान 03 और पायलटों के ग्लाइडर्ज को जब्त कर लिया गया है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की

अटल बिहारी वाजपेयी माउंटेनियरिंग इंस्टीच्यूट मनाली के निदेशक कर्नल नीरज राणा व साडा सुपरवाइजर रणविजय द्वारा रविवार को बिलिंग में औचक निरीक्षण

किया गया है, इसी के बीच टेंडम उड़ान भर रहे पायलटों और उनके ग्लाइडर्ज को चैक करने पर पाया गया कि 02 पायलटों के ग्लाइडर्ज पास नहीं करवाए गए थे।

निरिक्षण के दौरान 03 पायलटों के ग्लाइडर्ज को किया गया जब्त

इसी के साथ बताया जा रहा है की इसके साथ ही एक पायलट बिना लाइसेंस के भी उड़ान भर रहा था, प्राप्त जानकारी के अनुसार कर्नल नीरज राणा ने बताया कि तीनों पायलटों के ग्लाइडर्ज को जब्त कर लिया गया है

साथ ही उन्होंने बताया कि क्षेत्र में आने वाले पर्यटकों की जान को जोखिम में नहीं डालने दिया जाएगा तथा उन्होंने कहा की सभी उपचारिक प्रक्रिया को पूरा करने के बाद ही घाटी में पैराग्लिडिंग के लिए उड़ान भरी जारी जाएगी।

पांच दिनों से घाटी के पैराग्लाइडर्ज की जांच-पड़ताल की जा रही

इसी के साथ उन्होंने कहा कि वे पिछले पांच दिनों से घाटी के पैराग्लाइडर्ज की जांच-पड़ताल कर रहे हैं, साथ ही उन्होंने कहा की इसी बीच कुछ नए पायलटों के लाइसेंस भी बनाए गए है, जो आप घाटी में उड़ान भर सकेंगे, इसी

के साथ कुछ पायलट सभी नियमों को ताक पर रख कर मनमानी कर रहे हैं, जिन पर करवाई की जा रहि है साथ ही नियमो का उलघन करने वालो को पर्यटन विभाग व सरकार सहन नहीं करेगी।

बिलिंग से उड़ान भरने वाले टेंडम व सोलो पायलटों को एक बार फिर से आगाह किया गया

इसी के साथ उन्होंने बिलिंग से उड़ान भरने वाले टेंडम व सोलो पायलटों को एक बार फिर से आगाह किया है कि उन्हें पर्यटन विभाग द्वारा जारी की गई

गाइडलाइन के तहत ही उड़ान भरने की इजाजत दी जाएगी, यदि फिर भी कोई ऐसा नहीं करता है तो उस पर करवाई भी की जा सकती है।

यदि कोई पायलट सैलानी की जान जोखिम में डालता है, तो उसके खिआफ़ होगी कड़ी से कड़ी कार्रवाई

साथ ही घाटी में किसी भी तरह की मनमानी सहन नहीं की जाएग, अगर कोई मनमानी करते हुए सैलानियों की जान जोखिम में डालता है, तो उसके विरुद्ध कड़ी

से कड़ी कार्रवाई की जाएगी साथ ही गौर हो कि बिलिंग घाटी में जैसे जैसे पर्यटकों का रुझान टेंडम उड़ानों की तरफ बढ़ रहा है। यह स्थान पैराग्लिडिंग के लिए देश विदेश में अपनी पहचान बना चूका है।

कुछ पायलट सरकार व विभाग द्वारा तय नियमों की धज्जियां उड़ा रहे

ऐसे में यहां का युवा वर्ग भी पैराग्लाइडिंग कारोबार की ओर अग्रसर हो रहा है। इस बीच कुछ पायलट सरकार व विभाग द्वारा तय नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं,

जिन को पर्टयन विभाग और माउंटेनियरिंग इंस्टीच्यूट के अधिकारी देख रेख कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *