प्रदेश सरकार ने अब ग्रामीण इलाकों में लो वोल्टेज की समस्या खत्म करने के लिए नई योजना बनाई

himachal pradedsh el

हिमाचल प्रदेश में प्रदेश सरकार ने अब ग्रामीण इलाकों में लो वोल्टेज की समस्या खत्म करने के लिए योजना बनाई है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की इस प्रक्रिया के लिए बिजली बोर्ड ने नया प्लान बनाया है जिसके तहत मार्च

महीने तक इस समस्या के समाधान के लिए 996 नए बिजली ट्रांसफार्मर लगाने की योजना बनाई गयी है।

नॉर्थ, साउथ व सेंट्रल जोन के लिए रणनीति तैयार

इसी के साथ यह भी बताया जा रहा है की इसमें से नॉर्थ, साउथ व सेंट्रल जोन के लिए रणनीति बनाई गई है, इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है की यहां अधिकारी मौके पर जाकर जायजा ले रहे हैं, साथ ही जहां पर जमीन चिन्हित की गई है

सरकार द्वारा लंबे समय से जारी लो वोल्टेज की समस्या को दूर करने के लिए जो योजना बनाई

वहा लंबे समय से जारी लो वोल्टेज की समस्या को दूर करने के लिए जो योजना बनाई गई है, इसी के साथ उसके तहत 996 नए बिजली ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे, साथ ही जिनसे बिजली व्यवस्था अपग्रेड हो सकेगी तथा ग्रामीण लोगो इस का लाभ मिल पायेगा।

साउथ जोन में 480 बिजली के नए ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे

इसी साथ साउथ जोन में 480 बिजली के नए ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे, साथ ही जो कि सोलन, शिमला, रोहडू, नाहन व रामपुर में लगाए जाने हैं, साथ ही नॉर्थ जोन

यानी कांगड़ा, ऊना, डलहौजी में 70 नए ट्रांसफार्मर लगाए जाने की योजना प्रदेश सरकार द्वारा यह योजना बनाई गयी है, इसी के साथ जिस पर काम शुरू कर दिया गया है।

सेंट्रल जोन, जिसमें मंडी, कुल्लू, बिलासपुर, हमीरपुर शामिल

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की सेंट्रल जोन, जिसमें मंडी, कुल्लू, बिलासपुर, हमीरपुर आता है, इसी के साथ यह भी कहा जा रहा है की 196 ट्रांसफार्मर 11 केवी क्षमता के लगाए जाएंगे, साथ ही 62 ट्रांसफार्मर 22 केवी

क्षमता के होंगे, इसी के साथ 11 केवी क्षमता के कुल 658 और 22 केवी क्षमता के कुल 238 विद्युत ट्रांसफार्मर लगाए जाने की योजना पर काम शुरू कर दिया गया है।

विंटर मेंटेनेंस के काम भी चालू कर दिए गए

इसी के साथ बताया जा रहा है की इसके साथ हिमाचल प्रदेश में विंटर मेंटेनेंस के काम भी चालू कर दिए गए हैं। साथ ही 30 हजार बिजली के पुराने खंभों को बदले जाने की योजना पर भी बिजली विभाग कार्य कर रहा है।

इसी के साथ जिसमें 12 हजार लगा दिए गए हैं, साथ ही 31 मार्च तक सभी खंभों को लगाने का टारगेट रखा गया है, जिन को भी जल्द ही पूरा कर दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *