हिमाचल में जेल में प्रशिक्षण लेने के बाद कैदी बना रहे व्यर्थ पदार्थों से ऑर्गेनिक खाद

organic manure

हिमाचल प्रदेश की जेलों में अपनी सजा काट रहे कैदियों को सुधारकर उन्हें रोजगार देने के लिए विभिन्न कार्य किये जा रहे है, ताकि वो भी अपनी योग्यता के हिसाब से कार्य कर सके, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा

रहा है की जेल में प्रशिक्षण लेने के बाद कैदी अब रोजमर्रा के इस्तेमाल की वस्तुएं बनाकर लाखों कमा रहे हैं, इसी के साथ इन वस्तुओं को जेलों में आदान-प्रदान के अतिरिक्त बाजार में भी बेचा जा रहा है।

कैदी सब्जियों के छिलकों और व्यर्थ पदार्थों को एक जगह इकट्ठा कर केंचुआ खाद तैयार कर रहे

ऐसा ही कुछ हिमाचल प्रदेश के जिला सोलन कारागार में हो रहा है यहां बंदी बेकरी वस्तुओं को तैयार कर रहे हैं। जो कैदी यहां सजा काट रहे उन्होंने ऑर्गेनिक खाद बनाने का कार्य भी शुरू कर दिया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की इसमें कैदी सब्जियों के छिलकों और व्यर्थ पदार्थों को एक जगह इकट्ठा कर केंचुआ खाद तैयार कर रहे हैं।

पहली बारी में यह खाद की एक, 05 और 10 किलो की पैकिंग बाजार में बेची जा चुकी

इसी के साथ यहां पहली बारी में यह खाद की एक, 05 और 10 किलो की पैकिंग बाजार में बेची जा चुकी हैं, इसी के साथ इससे करीब 35 हजार का कारोबार भी

किया गया है, साथ ही इसके अलावा कैदी जेल परिसर में खाली जगह छोटे खेत बनाकर उसमें साग, धनिया, मटर और लहसुन भी उगा रहे है।

कैदी जेल परिसर में खाली जगह छोटे खेत बनाकर उसमें साग, धनिया, मटर और लहसुन भी उगा रहे

जिन को वो बाज़ार में भी बेच सकते है, साथ ही बताया जा रहा है की इन फसलों से निकलने वाले व्यर्थ पदार्थों का केंचुआ खाद बनाने में इस्तेमाल किया जा रहा है,

इसी के साथ यहां कैदी महत्वपूर्ण खाद तैयार कर रहे है, जो खेती बाड़ी करने में अहम योगदान दे रही है।

सोलन में कैदियों को दिया जा रहा जेल में रोजगार

हिमाचल प्रदेश में जिला सोलन कारागार के सहायक अधीक्षक दीपक शांडिल ने बताया कि महानिदेशक कारागार कैदियों को सुधारने और उन्हें रोजगार देने में सराहनीय कार्य कर रहे हैं, जिस से कैदियों के लिए

रोजगार उत्त्पन हो रहा है, इसी के साथ जिला सोलन कारागार में कैदी बेकरी वस्तुओं के साथ ऑर्गेनिक खाद भी तैयार कर रहे हैं, यह एक बहुत ही अच्छी योजना है, जिस से यह कैदी व्यर्थ पर्दार्थो से खाद को तैयार कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *