हिमाचल के लोकप्रिय पर्टयक स्थान रोहतांग दर्रा समेत लाहौल घाटी बर्फ से लकदक

snow fall in himachal

हिमाचल प्रदेश में मौसम ने एक बार फिर से करवार ली है, मौसम विभाग द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है, प्रदेश के लोकप्रिय रोहतांग दर्रा समेत लाहौल घाटी बर्फ से लकदक हो गई है, इसी के साथ

बताया जा रहा है की प्रदेश में बर्फ की सफेद चादर ओढ़े वादियों का शानदार नजारा देखने लायक है, इसी के साथ बताया जा रहा है की रोहतांग दर्रा के

साथ अटल टनल रोहतांग के दोनों छोर में ताजा बर्फबारी होने से लाहौल घाटी का संपर्क कट गया है।

अटल टनल रोहतांग से वाहनों की आवाजाही बंद

इसी के साथ बताया जा रहा है की हिमाचल के अटल टनल रोहतांग से वाहनों की आवाजाही बंद है, इसी के साथ हिमाचल की इस टनल में बर्फबारी के बाद फिसलन का खतरा बढ़ गया है,

इसी के साथ मनाली में स्तिथ है, साथ ही घाटी में ठंड का प्रकोप भी बढ़ गया है, इसी के साथ रात के तापमान में भारी गिरावट दर्ज की जा रही है।

मुख्यालय केलांग में 15 सेंटीमीटर बर्फ दर्ज की गई

इसी के साथ रोहतांग में रात को डेढ़ फीट तक बर्फबारी दर्ज की गई है, साथ ही इस अटल टनल रोहतांग के नॉर्थ पोर्टल में 15, सिस्सू में 10, कोकसर 20 और

जिला मुख्यालय केलांग में 15 सेंटीमीटर बर्फ दर्ज की गई है, इसी के साथ बताया जा रहा है की पर्यटकों को अटल टनल के नॉर्थ पोर्टल के दीदार के लिए अभी इंतजार करना होगा।

अटल टनल का नॉर्थ पोर्टल पिछले 03 दिनों से भारी संख्या में बर्फबारी की बजह से बंद

इसी के साथ रोहतांग के बाद सैलानियों की पहली पसंद बनी अटल टनल का नॉर्थ पोर्टल पिछले 03 दिनों से भारी संख्या में बर्फबारी की बजह से बंद है, इसी के साथ ऐसे में टनल के दीदार के लिए अभी  सैलानियों को कुछ दिन और रुकना होगा।

सैलानी स्कीइंग और पैराग्लाइडिंग आदि साहसिक गतिविधियों का खूब आनंद उठा रहे

इसी के साथ कुल्लू के सोलंगनाला में सैलानी स्कीइंग और पैराग्लाइडिंग आदि साहसिक गतिविधियों का खूब आनंद उठा रहे है, इसी के साथ पिछले

04 दिनों से जनजातीय क्षेत्र लाहौल-स्पीति में जारी बर्फबारी से लोग घरों में ही दुबके रहने को मजबूर हो गए हैं।

बर्फबारी की बजह से लोग ठंड से बचने के लिए अंगीठी और हीटर का सहारा ले रहे

साथ ही हिमाचल प्रदेश में हो रही बर्फबारी की बजह से लोग ठंड से बचने के लिए अंगीठी और हीटर का सहारा ले रहे है, साथ ही कुंजुम दर्रा होकर ग्रांफू-काजा दर्रा भी बर्फबारी होने से यातायात के लिए अवरुद्ध है, इसी के साथ

एसडीएम मनाली रमन घरसंगी ने कहा कि हिमस्खलन प्रभावित क्षेत्रों और नदी-नालों के पास जाने से बचें। आपातकालीन फोन नंबर 1077 पर भी सूचित करने को कहा है।

प्रदेश में 11 और 12 दिसंबर को मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान

इसी के साथ मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने प्रदेश में 11 और 12 दिसंबर को मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान लगाया है, इसी के साथ बताया जा रहा है की मध्यम और ऊंचाई वाले भागों में बारिश-बर्फबारी,

जबकि मैदानी क्षेत्रों में बारिश के साथ तूफान चलने के आसार जताए हैं, साथ ही राजधानी शिमला में आज सुबह से हल्के बादल छाए हुए हैं हुए है।

Lahaul Valley snow-covered, including Rohtang Pass, Himachal’s popular tourist destination

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *