मंडी नगर निगम की बड़ी गलती, मरे हुए लोगो को वोटर लिस्ट में किया शामिल

huimachal pradesh

हिमाचल प्रदेश के नगर निगम मंडी के चुनाव से पहले तैयार की जा रही मतदाता सूचियों में भारी गड़बड़ी का एक बड़ा मामला सामने आया है, प्राप्त जानकारी के

अनुसार बताया जा रहा है की इस मामले के सामने आई इतनी बड़ी गड़बड़ी में पुरानी मंडी वार्ड-2 की मतदाता सूची में 87 ऐसे लोगों के नाम शामिल कर लिए गए हैं।

वार्ड में मरने वाले लोगों की सूचना संबंधित परिवार पार्षद को देता

इसी के साथ बताया जा रहा है की जिन्हें मरे हुए वर्षों बीत चुके हैं, वार्ड में मरने वाले लोगों की सूचना संबंधित परिवार पार्षद को देता है और पार्षद यही सूचना नगर परिषद को साथ ही मृतकों का नाम हटाना नगर परिषद का काम है।

करीब एक दशक से नगर परिषद ने मरने वालों के नाम ही नहीं हटाए

इसी के साथ बताया जा रहा है की हिमकवहाल प्रदेश में सूची सामने आने से साफ है कि करीब एक दशक से नगर परिषद ने मरने वालों के नाम ही नहीं हटाए हैं, बताया जा रहा है की मरे हुए लोग भी वोटर लिस्ट में शामिल किये हुए है।

वार्ड-2 की सूची में ही खामियां निकली

इसी के साथ अभी तक वार्ड-2 की सूची में ही खामियां निकली हैं, शेष 14 वार्डों की मतदाता सूचियों को जांचा जाए तो ऐसे कई मामले सामने आ सकते हैं।

समाजसेवी सरिता हांडा ने सवाल उठाया

इसी के साथ समाजसेवी सरिता हांडा ने सवाल उठाया है कि 2011 से लेकर अब तक जितने लोग मरे हुए हैं, उन सबका ब्योरा नगर परिषद के पास मौजूद था।

ऐसे में सवाल उठता है कि नगर परिषद ने मरे हुए लोगो के नाम अभी तक क्यों नहीं हटाए है, इसी के साथ उन्होंने कहा कि जो मरे हुए लोग हैं, उनके नाम हटाकर दोबारा वोटर लिस्ट बनाई जाए।

28 नवंबर तक आपत्ति दर्ज करने का समय दिया गया

इसी के साथ मंडी जिला राजस्व अधिकारी राजीव सांख्यान ने बताया कि 28 नवंबर तक आपत्ति दर्ज करने का समय दिया गया था,

साथ ही कुछ आपत्तियां आई थीं, जिसके बाद नाम हटा दिए गए हैं, इसी के साथ अगर कोई नाम रह गया होगा तो चुनाव आयोग को लिखा जाएगा।

18 दिसंबर को फाइनल लिस्ट जारी होगी

साथ ही अभी 18 दिसंबर को फाइनल लिस्ट जारी होगी,जिसके बाद ही नगर निगम आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि मरे हुए लोगों का नाम न हटाने के

मामले में जांच की जाएगी, जिसको लेकर अभी जान की जाए ताकि इन वोटरों के नाम हटाए जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *