हिमाचल में डिपुओं में आंखों को स्कैन कर राशन देने की तैयारी शुरू

eys scan in himachal

हिमाचल प्रदेश में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलो की बजह से प्रदेश सरकार अब डिपुओं में राशन के आवंटन की प्रक्रिया में बदलाव करने जा रही है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की अब डिपुओं में पॉश

मशीन में अंगूठा लगाकर राशन देने के बजाय आंखों को स्कैन कर राशन देने की तैयारी है, जिस से कोरोना के फैलने से रोका जा सकता है।

खाद्य नागरिक एवं उपभोक्ता मामले विभाग इसका प्रस्ताव तैयार कर रहा

इसी के साथ खाद्य नागरिक एवं उपभोक्ता मामले विभाग इसका प्रस्ताव तैयार कर रहा है, इसी के साथ कोरोना संकट में सरकार ने पॉश मशीनों में अंगूठा लगाकर

राशन देने पर रोक लगा रखी है, साथ ही ऐसे में विभाग अभी राशन कार्ड स्कैन करने के बाद ही उपभोक्ताओं को राशन दे रहा है।

इस प्रक्रिया से राशन आवंटन में गड़बड़ी की आशंका रहती

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की विभाग का मानना है कि इस प्रक्रिया से राशन आवंटन में गड़बड़ी की आशंका रहती है, इसी के चलते अब आंखों को स्कैन कर राशन देने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जा

रहा है, साथ ही बताया जा रहा हैं, इससे कोरोना काल में पॉश मशीन में अंगूठा लगाने का झंझट भी खत्म हो जाएगा और राशन आवंटन में पारदर्शिता भी बनी रहेगी।

प्रदेश में हैं साढ़े 18 लाख राशनकार्ड उपभोक्ता है

इसी के साथ खाद्य नागरिक एवं उपभोक्ता मामले विभाग मंत्री राजेंद्र गर्ग ने बताया कि आंखों को स्कैन करके राशन देने का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है, साथ ही हिमाचल प्रदेश में हैं साढ़े 18 लाख राशनकार्ड उपभोक्ता है।

जिन को प्रदेश सरकार की ओर से लोगों को आटा, चावल, 3 दालें, 2 लीटर तेल, नमक और चीनी दी जा रही है। इसी के साथ हिमाचल प्रदेश में आंखों को स्कैन

करके राशन देने को लेकर अधिकारियों की बैठक हो चुकी है, इसी के साथ प्रदेश सरकार की ओर से इस प्रक्रिया को जल्द लागू करने की बात कही गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *