DU की मेधावी छात्रा अवंतिका घर लौट कर रोहड़ू के लोअरकोटी पंचायत की प्रधान निर्वाचित

panchayat himachal

हिमाचल प्रदेश के जिला शिमला की बेटी दिल्ली यूनिवर्सिटी की मेधावी छात्रा अवंतिका घर लौट कर रोहड़ू के लोअरकोटी पंचायत की प्रधान निर्वाचित हो गई हैं, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की यह

यूपीएससी की तैयारी कर रही सिद्धरोटी गांव की 22 वर्षीय यह होनहार ग्रामीण पृष्ठभूमि की असहनीय पीड़ा और समस्याओं को देखते हुए चुनावी रण में कूदी थी।

अवंतिका दिल्ली यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के बाद नवनिर्वाचित प्रधान

इसी के साथ बताया जा रहा है की अवंतिका दिल्ली यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के बाद नवनिर्वाचित प्रधान अवंतिका हिमाचल प्रदेश की खोज

मानी जा रही है, इसी के साथ इसके चलते बुधवार को समूचा रोहड़ू अवंतिका की जीत पर जश्न में डूबा रहा है।

क्षेत्र में साक्षरता दर ज्यादा न होने के कारण क्षेत्र का विकास नहीं हो पा रहा

साथ ही अवंतिका कहना है कि इस क्षेत्र में साक्षरता दर ज्यादा न होने के कारण क्षेत्र का विकास नहीं हो पा रहा है, साथ ही कुछ पढ़े-लिखे लोग हैं, वे भी बाहर ही रहते हैं। यही कारण है कि अवंतिका ने पंचायत चुनाव लड़ा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की उनका कहना है कि इस बार ना केवल रोहड़ू बल्कि पूरे हिमाचल प्रदेश में जिस तरह युवाओं ने इस पंचायत चुनाव

में पूरी सक्रियता दिखाई है, साथ ही उससे लगता है कि युवा अब अपने क्षेत्र का कायाकल्प करने में जुट गया है।

अवंतिका चौहान ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से स्नातक की पढ़ाई की है

इसी के साथ बता दें कि रोहड़ू के लोअर पंचायत के सिद्धरोटी गांव के दयानंद चौहान की 22 वर्षीय होनहार बेटी अवंतिका चौहान ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से

स्नातक की पढ़ाई की है, साथ ही इसके बाद इग्नू से ग्रामीण विकास में स्नातकोत्तर की पढ़ाई कर यूपीएससी की तैयारी कर रही हैं।

गांव के विकास के लिए हर वो काम करेंगी जो वो इस पद में रह के कर सकती

जानकारी के अनुसार बेटी अवंतिका को गांव के लोगों की समस्याएं देख कर उनके दिल में की सूरत बदलने की इच्छा जागी है, साथ ही कहा जा रहा है की यही वजह रही कि अवंतिका ने 22 साल की उम्र में पंचायत चुनाव लड़

कर समाज सेवा की राह चुन ली है, तथा उन्होंने कहा की वो अपने गांव के विकास के लिए हर वो काम करेंगी जो वो इस पद में रह के कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *