हिमाचल सरकार ने साइबर क्राइम पुलिस को डेढ़ करोड़ रुपये जारी किए

himachal pradesh

Computer privacy attack. Mixed media

हिमाचल प्रदेश में बढ़ते साइबर अपराध को अंजाम देने वाले साइबर अपराधियों पर अब हिमाचल पुलिस और बेहतर तरीके से कार्रवाई कर सकेगी, प्राप्त जानकारी

के अनुसार कहा जा रहा है की सरकार ने साइबर क्राइम पुलिस को डेढ़ करोड़ रुपये जारी किए हैं।

आधुनिक टूल और सॉफ्टवेयर की खरीद कर सकेगी

इसी के साथ कहा जा रहा है की इस राशि से साइबर क्राइम पुलिस साइबर अपराधियों की पड़ताल करने और साइबर अपराधियों के बढ़ते नेक्सस को रोकने

और उस पर नकेल कसने के लिए विभिन्न तरह के आधुनिक टूल और सॉफ्टवेयर की खरीद कर सकेगी, जिससे हिमाचल प्रदेश में फेल रहे साइबर अपराध को कम किया जाएगा।

हिमाचल में पिछले कुछ समय में साइबर अपराध में काफी बढ़ोतरी हुई

प्राप्त जानकारी के अनुसार कहा जा रहा है की हाल ही में हिमाचल प्रदेश के डीजीपी संजय कुंडू ने इस संबंध में सरकार से बजट की मांग की थी,साथ ही दलील दी गई

थी कि पिछले कुछ समय में साइबर अपराध में काफी बढ़ोतरी हुई है, जिससे प्रदेश की जनता को बेहद लाभ मिल पायेगा।

साइबर अपराधों में दोगुने से ज्यादा का इजाफा हुआ

इसी के साथ देश भर में लगे लॉकडाउन में सभी तरह के साइबर अपराधों में दोगुने से ज्यादा का इजाफा हुआ है, इसी के साथ इसमें महिलाओं के साथ फोटोशॉप कर ब्लैकमेलिंग के अलावा फेसबुक और इंस्टाग्राम जैसे सोशल

मीडिया माध्यम के जरिये दोस्ती कर निजता बढ़ाने और उसके बाद व्यक्तिगत और निजी फोटो, चैट को हासिल कर ब्लैकमेलिंग करने के मामले शामिल हैं, प्रदेश भर में कोरोना की आड़ में साइबर अपराध काफी बड़े है।

विभिन्न तरह के वित्तीय साइबर फ्रॉड में भी भारी बढ़ोतरी देखी गई

जानकारी के अनुसार इसके अलावा विभिन्न तरह के वित्तीय साइबर फ्रॉड में भी भारी बढ़ोतरी देखी गई थी, साथ ही साइबर क्राइम पुलिस के पास अभी ऐसे हाईटेक अपराधियों से लोहा लेने के लिए आधुनिक उपकरण ही नहीं थे।

जिस से की इन अपराधो पर काबू पाया जा सकता या फिर ऐसे टूल या सॉफ्टवेयर थे जो आउटडेटेड हो चुके थे, यही वजह थी कि लाख कोशिश करने के बाद भी साइबर अपराधी के गिरेबां तक पुलिस के हाथ नहीं पहुंच पा रहे थे।

स्टेट साइबर क्राइम थाना उन उपकरणों व सॉफ्टवेयर ओं की खरीद करेगा

प्राप्त जानकारी के अनुसार इसी को देखते हुए हिमाचल प्रदेश पुलिस ने सरकार से जल्द से जल्द बजट जारी करने की मांग की थी, साथ ही अब इस बजट के जारी होने के बाद स्टेट साइबर क्राइम थाना उन उपकरणों व सॉफ्टवेयर ओं की खरीद करेगा।

अपराध करने वालों को सलाखों की पीछे डालने में सफलता मिलेगी

जिनकी मदद से वह छुपकर अपराध करने वालों को ढूंढ निकालेगी, तथा प्रदेश में हो रहे इन साइबर अपराध पर काबू पाया जा सकता है, इसी के साथ डीजीपी संजय

कुंडू ने कहा कि इन उपकरणों की मदद से अपराध करने वालों को सलाखों की पीछे डालने में सफलता मिलेगी, तथा अपराधों को भी कम किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *