हिमाचल में कुठेड़ पंचायत पर 1945 से लेकर आज तक एक ही परिवार का वर्चस्व कायम

panchayat himachal

हिमाचल प्रदेश में विकास खंड नगरोटा सूरियां के अधीन ग्राम पंचायत कुठेड़ ने राष्ट्रीय प्रदेश, जिला व ब्लॉक स्तर पर कई पुरस्कार हासिल किए हैं, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की इन्हीं उपलब्धियों के दम

पर कुठेड़ पंचायत पर 1945 से लेकर आज तक एक ही परिवार का वर्चस्व कायम है, साथ ही कहा जा रहा है की कुठेड़ पंचायत में मौजूदा समय में सुशील शर्मा प्रधान मनोनीत हुए हैं।

सुशील कुमार शर्मा ने 25 साल की आयु के वर्ष 1995 में बतौर उपप्रधान चुनाव लड़ा था

इसी के साथ जबकि उनकी पत्नी बीना शर्मा उपप्रधान बनी हैं, साथ ही कुठेड़ पंचायत में सुशील कुमार शर्मा ने 25 साल की आयु के वर्ष 1995 में बतौर उपप्रधान चुनाव लड़कर जीत हासिल की थी तथा तब से लेकर आज

तक कभी प्रधान व कभी उपप्रधान मनोनीत होते हुए आ रहे हैं, यह एक ऐसा परिवार है जो कई वर्षो से जनता की आवाज को सरकार तक पहुंचा रहा है।

2000 में बतौर प्रधान चुनाव लड़कर जीत हासिल की तथा वर्ष 2005 तक प्रधान रहे

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की सुशील कुमार शर्मा ने बताया कि वर्ष 2000 में बतौर प्रधान चुनाव लड़कर जीत हासिल की तथा वर्ष 2005 तक प्रधान रहे है, साथ ही वर्ष 2005 में प्रधान की सीट महिला के लिए आरक्षित हो गई है,

साथ ही सुशील कुमार ने बतौर उपप्रधान तथा उनकी पत्नी बीना शर्मा ने बतौर प्रधान चुनाव लड़ा था।

दोनों ही जनता के आशीर्वाद से विजेता हुए

इसी के साथ दोनों ही जनता के आशीर्वाद से विजेता हुए है, साथ ही वर्ष 2010 में सुशील कुमार शर्मा प्रधान तथा उनकी पत्नी बीना शर्मा उपप्रधान बनीं है, इसी के साथ वर्ष 2015 में बीना शर्मा प्रधान व सुशील कुमार शर्मा

उपप्रधान बने तथा अब वर्ष 2020 में जनता ने फिर से सुशील कुमार शर्मा को प्रधान तथा उनकी पत्नी बीना शर्मा को उपप्रधान मनोनीत किया है।

1945 से लेकर वर्ष 1976 तक उनके दादा स्व. साईं दास शर्मा कुठेड़ पंचायत में प्रधान रहे

इसी के साथ सुशील कुमार शर्मा ने बताया कि इससे पहले वर्ष 1945 से लेकर वर्ष 1976 तक उनके दादा स्व. साईं दास शर्मा कुठेड़ पंचायत में प्रधान रहे तथा इसी के साथ वर्ष 1990 से लेकर वर्ष 1995 तक पिता राम चंद

शर्मा प्रधान रहे हैं, इसी के साथ सुशील कुमार शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि पंचायत को विभिन्न कार्यों के लिए सम्मानित भी किया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *