कुल्लू में एक निजी क्लीनिक में अल्ट्रासाउंड मशीन सील और डॉक्टर का लाइसेंस भी रद्द

banned

हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू में क्षेत्रीय अस्पताल के समीप एक निजी क्लीनिक में अल्ट्रासाउंड मशीन सील करने के साथ क्लीनिक के डॉक्टर का लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है, इसी के साथ प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की स्वास्थ्य विभाग ने मशीन को कब्जे में ले लिया है।

लाइसेंस लेने के लिए दिए शपथपत्र में झूठी जानकारी देने पर हुई करवाई

साथ ही कहा जा रहा है की निजी क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर के लाइसेंस लेने के लिए दिए शपथपत्र में झूठी जानकारी देने पर की गई है, जिसके बाद उस पर कारवाई करते हुए उस का लाइसेंस भी रद्द कर दिया गया है।

पूरी छानबीन के बाद जिला एपरोप्रिएट अथॉरिटी ने यह कार्रवाई की

इसी के साथ कहा जा रहा है की पूरी छानबीन के बाद जिला एपरोप्रिएट अथॉरिटी ने यह कार्रवाई की है, साथ ही क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर ने जब स्वास्थ्य विभाग से अनुमति ली थी, उस समय कहा था कि उसके खिलाफ कोर्ट में कहीं भी मामला दर्ज नहीं किया गया है।

साथ ही स्वास्थ्य विभाग को सूत्रों से यह जानकारी मिली कि डॉक्टर के खिलाफ दिल्ली के 30 हजारी कोर्ट में पीसी एंड पीएनडीटी एक्ट के तहत दो मामले चल रहे हैं।

जिला एडवाइजरी कमेटी की बैठक में भी मामले पर चर्चा हुई

जानकारी के अनुसार इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है, जिला एडवाइजरी कमेटी की बैठक में भी मामले पर चर्चा हुई तथा

कमेटी ने भी डॉक्टर को गलत पाया और जिला एपरोप्रिएट अथॉरिटी को डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा गया हैं, इसके बाद पुलिस के साथ निजी क्लीनिक में दबिश दी गई है।

तीस हजारी कोर्ट में चल रहे मामले की जानकारी उसने विभाग से छिपाई

इसी के साथ अल्ट्रासाउंड मशीन स्वास्थ्य विभाग ने अपने कब्जे में ले ली है साथ ही आरोपी के खिलाफ दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में चल रहे मामले की जानकारी उसने विभाग से छिपाई।

इसके लिए उस पर गाज गिरी है।जानकारी के अनुसार कहा जा रहा है की सीएमओ डॉ. सुशील चंद्र शर्मा ने कहा कि इसकी रिपोर्ट स्वास्थ्य निदेशक को भेजी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *