कुल्लू को पूरे देश में सर्वश्रेष्ठ प्रतिबंधित संरक्षित क्षेत्र के रूप में स्थान प्राप्त

kullu

हिमाचल प्रदेश के लोकप्रिय और प्रसिद्ध ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क और तीर्थन वन्यजीव अभ्यारण्य देवभूमि  कुल्लू को पूरे देश में सर्वश्रेष्ठ प्रतिबंधित संरक्षित क्षेत्र के रूप में स्थान दिया गया है। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की सैंज वन्यजीव अभ्यारण्य को भी शीर्ष पांच में स्थान दिया गया है, साथ ही यह जानकारी हिमाचल प्रदेश के वन मंत्री राकेश पठानिया ने दी है।

राष्ट्रीय उद्यानों और वन्यजीव अभ्यारण्यों के प्रबंधन प्रभावशाली मूल्यांकन रिपोर्ट जारी

इसी के साथ बताया जा रहा है की राकेश पठानिया ने कहा कि केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने जानकारी देते हुए कहा की 11

जनवरी को नई दिल्ली में भारत में राष्ट्रीय उद्यानों और वन्यजीव अभ्यारण्यों के प्रबंधन प्रभावशाली मूल्यांकन रिपोर्ट जारी की थी।

प्रभावशाली प्रबंधन का मूल्यांकन कई मापदंडों के आधार पर किया जाता

प्राप्त जानकारी के अनुसार इस रिपोर्ट में ही देश के 05 सबसे अच्छे प्रतिबंधित संरक्षित क्षेत्रों में से हिमाचल प्रदेश से संबंधित 03 क्षेत्रों ने अपना स्थान बनाया है, इसी के साथ प्रभावशाली प्रबंधन का मूल्यांकन कई 

मापदंडों के आधार पर किया जाता है, साथ ही इसमें यह परिभाषित किया जाता है कि राष्ट्रीय उद्यान वन्यजीव अभ्यारण्य का प्रबंधन किस प्रकार से किया जा रहा है।

वन्यजीव अभ्यारण्य की मूल्यांकन प्रक्रिया 

हिमाचल प्रदेश में 13 संरक्षित क्षेत्रों समेत राष्ट्रीय स्तर पर 146 राष्ट्रीय उद्यान और वन्यजीव अभ्यारण्य की मूल्यांकन प्रक्रिया भारतीय वन्यजीव संस्थान देहरादून साथ ही स्वतंत्र मूल्यांकनकर्ताओं की एक टीम ने माध्यम से की गई है। 

जागरूकता सहित विभिन्न मापदंडों का मूल्यांकन किया गया

इसी के साथ अंकों में स्टाफ की स्थिति तथा संरक्षण की सीमा वित्तीय संसाधनों का प्रावधान, संरक्षण मूल्यों के प्रति समुदायों की भागीदारी और जागरूकता सहित विभिन्न मापदंडों का मूल्यांकन किया गया है, इसी के साथ  

राष्ट्रीय औसत 62 प्रतिशत की तुलना में कुल्लू के ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क और तीर्थन वन्यजीव अभ्यारण्य ने 82.17 प्रतिशत अंक प्राप्त किए जबकि सैंज

वन्य जीव अभयारण्य ने 82.5 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं, कुल्लू के इस ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में हर साल भारी संख्या में सैलानी यहां पहुचते है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *