देश के सबसे लंबे स्नो फेस्टिवल का द्वीप प्रज्वलित कर फेस्टिवल का शुभारंभ

himachal pradesh ta

हिमाचल प्रदेश के जिला लाहौल स्पीति के में देश के सबसे लंबे स्नो फेस्टिवल का मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा ने बौद्ध मंत्रोच्चारण के बीच द्वीप प्रज्वलित कर फेस्टिवल का शुभारंभ किया है, प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया

जा रहा है की इस स्नो फेस्टिवल के जरिये देश-विदेश के सैलानी भी लाहौल-स्पीति की परंपरा, रीति-रिवाजों और संस्कृति से रूबरू हो सकेंगे।

इससे लाहौल के पर्यटन को भी संजीवनी मिलेगी

इसी के साथ कहा जा रहा है की इससे लाहौल के पर्यटन को भी संजीवनी मिलेगी, साथ ही कहा जा रहा है की पर्यटन को बढ़ावा देने, जनजातीय संस्कृति को संरक्षित

करने और समृद्ध संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए स्नो फेस्टिवल करवाया जा रहा है, इस त्यौहार को देखने के लिए देश विदेश से पर्टयक हिमाचल प्रदेश पहुंचते है।

पारंपरिक खेल तीरंदाजी का तीर चलाकर शुभारंभ

जानकारी के अनुसार मंत्री ने जिले के पारंपरिक खेल तीरंदाजी का तीर चलाकर शुभारंभ किया, साथ ही बताया जा रहा है की स्वच्छता वाहन तथा सड़क सुरक्षा पर बर्फ में वाहन सुरक्षित चलाने को लेकर जिप्सी राइड को हरी झंडी दिखाई है।

पारंपरिक व्यंजनों के स्टालों का भी शुभारंभ इस त्यौहार के दौरान किया

इसी के साथ पारंपरिक व्यंजनों के स्टालों का भी शुभारंभ इस त्यौहार के दौरान किया गया, साथ ही सांस्कृतिक लोकनृत्य की प्रस्तुतियों ने दर्शकों का खूब

मनोरंजन किया है, इसी दौरान मारकंडा ने जानकारी देते हुए कहा कि अटल टनल खुलने से लाहौल के लोगों को बर्फ की कैद से छुटकारा मिला है।

आने वाले समय में इस त्यौहार को सरंचनात्मक ढांचे को विकसित किया जाएगा

साथ ही कहा जा रहा है की स्नो फेस्टिवल हर साल मनाया जाएगा तथा कहा कि सुविधाओं के अभाव में इस बार सर्दियों में पर्यटक नहीं पहुंच पाए हैं, आने वाले

समय में सरंचनात्मक ढांचे को विकसित किया जाएगा, ताकि अधिक से अधिक सैलानी यहां पहुंच सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *