मंडी की जबना चैहान मात्र 21 वर्ष की उम्र में देश की सबसे युवा प्रधान बनी

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी की जबना चैहान मात्र 21 वर्ष की उम्र में देश की सबसे युवा प्रधान बन कर प्रदेश का नाम रोशन किया है, इसी के साथ प्राप्त

जानकारी का अनुसार बताया जा रहा है की ओरिएंटल फाउंडेशन की संस्थापक जबना ने प्रधान बनने के बाद पंचायत में शराबबंदी लागू की है।

2020 में सुपरवुमन अवार्ड से सम्मानित भी किया गया

साथ ही कहा जा रहा है की इस पर उन्हें जान से मारने की धमकी भी मिल गयी है, लेकिन वह पीछे नहीं हटीं तथा उन्हें साल 2020 में सुपरवुमन अवार्ड से सम्मानित

भी किया गया है, इसी के साथ बताया जा रहा है की वर्ष 2018 में जबना चौहान का नाम देश की 100 प्रभावशाली महिलाओं में शामिल हुआ।

दिल्ली में आयोजित समारोह के दौरान वुमन इनोवेटर संस्था ने यह सम्मान दिया गया

इसी के साथ बताया जा रहा है की जबना चौहान को दिल्ली में आयोजित समारोह के दौरान वुमन इनोवेटर संस्था ने यह सम्मान दिया गया है, इसी के साथ कहा जा रहा है की मंडी की इस जबना चौहान का नाम उस

वक्त सुर्खियों में आया, जब वह वर्ष 2016 में 21 वर्ष और 02 महीने की आयु में देश की सबसे युवा प्रधान बनीं और पंचायत में शराबबंदी लागू की।

क्षेत्र में अपनी पंचायत को जिला में नंबर वन पर पहुंचाया

इसी के साथ कहा जा रहा है की इस पर जबना चौहान को जान से मारने की धमकी भी मिली लेकिन वह पीछे नहीं हटीं तथा जबना ने हर क्षेत्र में अपनी पंचायत को जिला में नंबर वन पर पहुंचाया है, साथ ही कहा जा रहा है

की हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के गोहर ब्लॉक की थरजून पंचायत की इस युवा प्रधान को सराहनीय कार्यों के लिए पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंहए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह सम्मानित कर चुके हैं।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जबना चौहान को सम्मानित कर चुके

साथ ही अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जबना चौहान को सम्मानित कर चुके हैं, इसी के साथ अभिनेता अक्षय कुमार ने भी गुड़गांव बुलाकर

जबना चौहान को सम्मानित किया था, इसी के साथ अक्षय कुमार ने उन्हें अपनी फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा’ के प्रमोशन इवेंट के दौरान नवाजा था।

दिसंबर 2019 को जबना चौहान दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरने पर बैठीं

साथ ही हैदराबाद में हैवानियत की घटना और देश में महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचार के खिलाफ दिसंबर 2019 को जबना चौहान दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरने पर बैठीं थी, इसी के साथ बताया जा रहा है की जबना के साथ

कई राज्यों से आए संगठनों व संस्थाओं के पदाधिकारी भी धरने में शामिल हुए थे, साथ ही जबना चौहान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात के अहमदाबाद में 03 दिवसीय राष्ट्रीय युवा सम्मेलन युगांतर अवॉर्ड समारोह के

दौरान सम्मान प्रदान किया गया था,साथ ही स्वाना हिमाचल प्रदेश की सबसे युवा प्रधान बनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *