हिमाचल के समुद्रतल से 13 ,050 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रा में पहली बार बर्फबारी में कमी

himaachal pradesh rohtang pass

हिमाचल प्रदेश में स्तिथ समुद्रतल से 13 ,050 फीट ऊंचे रोहतांग दर्रा में पहली बार बर्फबारी में रिकॉर्ड कमी आंकी गई है, इसी के साथ प्राप्त जानकारी के अनुसार कहा

जा रहा है है की हर साल 25 से 30 फीट बर्फ की मोटी चादर से लकदक रहने वाले रोहतांग में इस बार मात्र 8 से 10 फीट बर्फ है।

प्रदेश के बहुत से ग्लेशियर इस साल प्रभावित हुए

इसी के साथ कहा जा रहा है की हिमाचल प्रदेश में स्तिथ लोकप्रिय पर्टयक स्थान मनाली-लेह मार्ग पर बारालाचा, शिंकुला दर्रा में भी अपेक्षा से बहुत कम हिमपात हुआ है, साथ ही कहा जा रहा है की इस साल मौसम

के बदले चक्र से पर्यावरण और ग्लेशियर विशेषज्ञों की चिंता बढ़ गई है, तथा प्रदेश के बहुत से ग्लेशियर इस साल प्रभावित हुए है।

हिमालय रेंज में करीब 9500 छोटे-बड़े ग्लेशियर स्तिथ

प्राप्त जानकारी के अनुसार कहा जा रहा है की हिमालय रेंज में करीब 9500 छोटे-बड़े ग्लेशियर स्तिथ हैं, साथ ही कहा जा रहा है की पिछले 02 दशकों से यह

ग्लेशियर लगातार पिघलकर सिकुड़ रहे हैं साथ ही इस सीजन में बर्फ के फाहे कम गिरने से ग्लेशियरों का दायरा नहीं बढ़ पाया है।

बर्फबारी के बाद अब ग्लेशियर वैज्ञानिकों की नजर गर्मी के मौसम पर टिकी हुई

साथ ही इसका असर न केवल पर्यावरण संतुलन पर पड़ेगा बल्कि प्रदेश में स्तिथ नदी-नालों के जलस्तर के साथ जल स्रोतों पर भी पड़ेगा तथा सर्दी में कम बर्फबारी के बाद अब ग्लेशियर वैज्ञानिकों की नजर गर्मी के मौसम पर टिकी हुई है।

हिमालय रेंज में कम बर्फबारी होने से ग्लेशियरों का दायरा नहीं बढ़ना घातक

केंद्रीय विश्वविद्यालय धर्मशाला में बतौर पर्यावरण विज्ञान और ग्लेशियर के जानकार असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. अनुराग ने जानकारी देते हुए कहा कि हिमालय रेंज में कम बर्फबारी होने से ग्लेशियरों का दायरा नहीं बढ़ना घातक है।

सर्दी में बर्फबारी कम हो रही है और गर्मी में ग्लेशियर तेजी से पिघलते

साथ ही उन्होंने कहा कि अगर सर्दी में बर्फबारी कम हो रही है और गर्मी में ग्लेशियर तेजी से पिघलते हैं तो इसको रिकवर करने में 04 से 05 साल का समय

लगेगा, साथ ही बताया जा रहा है की सीमा सड़क संगठन के कमांडर उमाशंकर ने कहा कि इस बार रोहतांग दर्रा में बर्फबारी कम हुई है।

सिस्सू में इस बार मुश्किल से 25 सेेंटीमीटर बर्फ ही जमी

साथ ही मनाली के सोलंगनाला में बर्फबारी नहीं हुई है तथा 8 से 10 फीट बर्फ से लकदक रहने वाले कोठी और सिस्सू में इस बार मुश्किल से 25 सेेंटीमीटर बर्फ ही जमी है,

इसी के साथ कहा जा रहा है की हिमाचल प्रदेश में स्तिथ इस रोहतांग दर्रा में भी 7 से 8 फीट बर्फ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *