पांचवीं कक्षा की बच्ची को स्कूल प्रबंधन ने किया ताड़ित, बच्ची मानसिक तनाव में

cid-will-soon-launch-awareness-campaign

हिमाचल प्रदेश में फैले कोरोनाकाल के बीच वार्षिक फंड की अदायगी न करने पर एक पांचवीं कक्षा की बच्ची को स्कूल प्रबंधन ने इतना प्रताड़ित कर दिया कि वह मानसिक तनाव में चली गई है। इसी के साथ प्राप्त जानकारी एक अनुसार बताया जा रहा है की छात्रा का अब इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज (IGMC) अस्पताल शिमला में उपचार दिया गया है।

डीसी ने इस मामले की छानबीन के शिक्षा उपनिदेशक को निर्देश दिए

इसी के साथ कहा जा रहा है की यह सनसनीखेज आरोप बच्ची के अभिभावकों ने लगाए हैं, साथ ही कहा जा रहा है की जिसे लेकर जांच शुरू है, साथ ही डीसी ने इस मामले की छानबीन के शिक्षा उपनिदेशक को निर्देश दिए हैं, तथा इसी दौरान चिकित्सकों ने अभिभावकों को हिदायत दी है कि वे बच्ची को अकेला न छोड़ें।

अभिभावक स्कूल का वार्षिक फंड जमा नहीं कर पाए जिस बजह से किया ताड़ित

साथ ही कहा जा रहा है की 10 साल की इस बच्ची के अभिभावक स्कूल का वार्षिक फंड जमा नहीं कर पाए हैं, इसी दौरान पिता किशन ने जानकारी देते हुए बताया कि उनकी बेटी रात को घबराकर उठ खड़ी होती है, तथा चिकित्सकों ने बच्ची के तनाव में चले जाने की बात कही है।

10 साल की मासूम बच्ची को किया बेहद परेशान, मामला दर्ज

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की उन्होने आरोप लगाया कि वार्षिक फंड न चुकाने पर उनकी बच्ची को प्रताड़ित किया गया है तथा छात्रा ने बताया कि 19 मार्च को गणित की परीक्षा थी इसी दौरान उसे परीक्षा हाल में 20 मिनट देरी से प्रश्नपत्र दिया गया तथा पेपर पूरा करने के बाद उसे साढ़े नौ से साढ़े 11 बजे तक अलग कमरे में बिठाया गया।

20 मार्च को इसकी डीसी और शिक्षा उपनिदेशक को लिखित शिकायत दी

इसी के साथ प्रधानाचार्य ने वार्षिक फंड चुकाने पर ही अन्य बच्चों के साथ बिठाने की बात कही थी, इसी के साथ माता ने कहा कि बच्ची उस दिन रोती हुई घर आई तथा बच्ची के पिता ने 20 मार्च को इसकी डीसी और शिक्षा उपनिदेशक को लिखित शिकायत दी थी, साथ ही 22 मार्च को उन्हें डीसी ने दफ्तर बुलाया था।

उपनिदेशक उच्च शिक्षा को बुलाकर पूरी छानबीन करने के निर्देश दिए

जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की जहां उपनिदेशक के समक्ष सारी घटना बताई गयी इसी के साथ ही इतना कुछ होने के बावजूद स्कूल प्रबंधन पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई, जानकारी के अनुसार डीसी आदित्य नेगी ने कहा कि अभिभावक शिकायत लेकर आए थे तथा इसके बाद उपनिदेशक उच्च शिक्षा को बुलाकर पूरी छानबीन करने के निर्देश दिए हैं तथा पुरे मामले की जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *