वैश्विक शक्ति अमेरिका सरकार से निर्वासित तिब्बत सरकार को मान्यता मिलना बड़ी बात

himachal pradesh tibtan

हिमाचल परेश तथा केंद्रीय तिब्बत प्रशासन के प्रमुख एवं राष्ट्रपति डॉ. लोबसांग सांग्ये ने जानकारी देते हुए कहा की कहा कि वैश्विक शक्ति अमेरिका सरकार से

निर्वासित तिब्बत सरकार को मान्यता मिलना उनके लिए एक बड़ी उपलब्धि है, साथ ही कहा की पूरे विश्व के लिए चीन की विस्तारवादी नीति हमेशा ही खतरा रही है।

तिब्बत समेत कई देशों के खनिज संपदा वाले क्षेत्रों पर चीन की नजर रहती

साथ ही तिब्बत समेत कई देशों के खनिज संपदा वाले क्षेत्रों पर चीन की नजर रहती है तथा समय पर कोविड-19 की जानकारी नहीं देकर चीन ने विश्व को

महामारी में झोंका तथा हर बार कोई न कोई रणनीति चीन बनाता रहता है, जिस से अन्य देशो को नुक्सान पहुंचा सके।

औपचारिक रूप से अमेरिकी राष्ट्रपति भवन व्हाइट हाउस ने मान्यता दी

इसी के साथ भारत की उत्तराखंड आपदा के पीछे भी चीन की कुटिल चाल से इंकार नहीं किया जा सकता है, साथ ही उन्होने कहा की वीरवार को सिरमौर जिला में पांवटा साहिब के भूपपुर में पत्रकारों को संबोधित करते हुए

डॉ. सांग्ये ने जानकारी देते हुए कहा कि पहली बार औपचारिक रूप से अमेरिकी राष्ट्रपति भवन व्हाइट हाउस ने मान्यता दी है।

कारण पिछले 06 दशकों से सीटीए प्रमुख को अमेरिका में एंट्री नहीं मिलती

साथ ही उन्होने जानकारी देते हुए कहा है की तिब्बती सरकार के किसी नेता का 06 दशक में इस तरह का यह पहला ऐतिहासिक दौरा रहा था तथा साथ ही अमेरिकी

सरकार की ओर से तिब्बती सरकार के निर्वासन को मान्यता नहीं देने के कारण पिछले 06 दशकों से सीटीए प्रमुख को अमेरिका में एंट्री नहीं मिलती थी।

वैश्विक शांति तथा सौहार्द और तालमेल के महत्व के लिए किए जा रहे कार्यों को मान्यता प्रदान की

इसी के साथ अमेरिकी संसद ने सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित कर तिब्बत की वास्तविक स्वायत्तता और 14वें दलाईलामा की ओर से वैश्विक शांति तथा सौहार्द और तालमेल के महत्व के लिए किए जा रहे कार्यों को मान्यता प्रदान की है।

उत्तराखंड के चमोली में आपदा के पीछे चीन का हाथ होने से इंकार नहीं किया जा सकता

जानकारी के अनुसार कहा जा रहा है कि जानबूझ कर चीन ने 3 से 5 सप्ताह तक विश्व को कोविड-19 की जानकारी नहीं दी तथा सभी को इस महामारी के चपेट में ले आया,

साथ ही आज पूरे विश्व में महामारी से लाखों लोग जान गंवा चुके हैं, तथा उत्तराखंड के चमोली में आपदा के पीछे चीन का हाथ होने से इंकार नहीं किया जा सकता है।

हिमाचल चीन अपनी नदियों पर 3 डैम बना चुका

कहा जा रहा है की चीन अपनी नदियों पर 3 डैम बना चुका है तथा विस्तारवादी नीतियों को अंजाम देने के लिए कभी भी नुकसान पहुंचा सकता है, बुधवार रात को तिब्बत की निर्वासित सरकार के प्रमुख डॉ. लोबसांग सांग्ये पांवटा पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *