हिमाचल की 03 दवाई उद्योगों के सैंपल फेल, देश की 60 फीसदी दवाइयां बनती हिमाचल में

dwai solan himachal

हिमाचल प्रदेश के फार्मा हब सोलन के बद्दी में फरवरी माह के ड्रग अलर्ट में कोई भी सैंपल फेल नहीं हुआ है, इसी के साथ प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की फरवरी में प्रदेश की जिन 03 कंपनियों के सैंपल फेल हुए हैं,

इसी के साथ कहा जा रहा है की उनमें सिरमौर के पांवटा साहिब, नालागढ़ और सोलन के सुबाथू की एक कंपनी शामिल है।

प्रदेश की दवाइयों के सैंपल दूसरे राज्यों की तुलना में काफी कम फेल हो रहे

इसी के साथ हिमाचल प्रदेश की दवाइयों के सैंपल दूसरे राज्यों की तुलना में काफी कम फेल हो रहे हैं, इसी के साथ कहा जा रहा है की इन सैंपल फेल होने के पीछे

दूसरे भी कई कारण बताये हैं, साथ ही जिसमें तापमान की कमी और अधिकता, लेवलिंग और वॉल्यूम शामिल है।

देश की 60 फीसदी दवाई हिमाचल प्रदेश में बनती

प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की दवा के निर्माण में कोई कमी नहीं है, साथ ही कहा जा रहा है की बीते दिन आए ड्रग अलर्ट में हिमाचल प्रदेश के 03 सैंपल ही फेल हुए हैं, इसी के साथ जबकि देश की 60 फीसदी दवाई हिमाचल प्रदेश में बनती है।

03 उद्योगों के सैंपल फेल हुए उन्हें मार्केट से माल वापस करने को कहा गया

साथ ही हिमाचल प्रदेश राज्य दवा नियंत्रक नवनीत मरवाह ने जानकारी देते हुए बताया कि जिन 03 उद्योगों के सैंपल फेल हुए हैं, उन्हें नोटिस जारी कर दिया गया

है और मार्केट से माल वापस करने को कहा गया है, साथ ही कहा जा रहा है की यह दवाएं उच्च रक्तचाप, हृदयाघात तथा विभिन्न संक्रमणों के उपचार में काम आती हैं।

दवाइयों को गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए ड्रग विभाग ने एक मॉडल तैयार किया

हिमाचल प्रदेश में दवा नियंत्रक नवनीत मरवाह ने जानकारी देते हुए बताया कि दवाइयों को गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए ड्रग विभाग ने एक मॉडल तैयार किया है, साथ ही जिसमें जिस दवा का सैंपल फेल होता है, उसके

कारणों की सभी बिंदुओं की सूची तैयार करके उसके हर पहलू पर कार्य किया जाता है, प्रदेश में फेल होते इन दवाइयों के सैंपल एक चिंता का विषय बनते जा रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *